एसी में नींद ले रहा अस्पताल प्रशासन, 39 डिग्री में तप रहे मरीज

Rakesh Kumar Goutam

Publish: Apr, 11 2019 08:06:55 PM (IST)

ख़बरें सुनें

चूरू.

मेडिकल कॉलेज से जुड़े राजकीय डेडराज भरतिया अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों को अव्यवस्थाओं के कारण परेशान हो होना पड़ा रहा है। राजस्थान पत्रिका ने जब बुधवार रात 12 बजे अस्पताल में भर्ती मरीजों का हाल जाना तो कई हैरान करने वाले तथ्य सामने आए। महिला व पुरुष मेडिकल वार्ड में भर्ती मरीज वार्ड में पंखे व कूलर नहीं होने कारण गर्मी से तप रहे थे। कई मरीज तो परेशान होकर वार्ड से बाहर पार्क में भाग गए थे।

 

सबसे पहले महिला वार्ड का हाल जाना गया। वार्ड में मरीज ओवरफुल हो रहे थे। करीब ३६ बेड के वार्ड में मरीज नहीं आए तो बगल में गैलरी में मरीजों को लेटा दिया गया। इसके बाद बाद भी जगह कम पड़ गई तो पुराने एनबीएसयू वार्ड में बिना चद्दर के ही मरीजों को लेटा दिया गया। यहां पंखा भी नहीं था। परेशान होकर कुछ मरीज वार्ड से बाहर चले गए। बुधवार को वार्ड में डायरिया के ही २६ मरीज भर्ती हुए। 10 अप्रेल को 36 नए मरीज भर्ती हुए थे। इसके अलावां अस्पताल में मरीजों के पीने के लिए कहीं पर शीलत पानी भी नहीं मिला।


45 मरीजों पर एक नर्सिंग स्टाफ


अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण रात को महिला वार्ड की देखरेख के लिए केवल एक नर्सिंग स्टाफ की ड्यूटी लगाई गई थी। इतने मरीजों को संभालना एक नर्सिंगकर्मी के लिए बहुत मुश्किल हो रहा था। वहीं डायरिया आदि से पीडि़त मरीजों के परिजन अपने-अपने मरीजों की पीड़ा को लेकर स्टाफ के आगे-पीछे घूम रहे थे। लेकिन अकेला स्टाफकर्मी कभी इधर तो कभी उधर भागदौड़ कर रहा था।
इसके बाद पुरुष मेडिकल वार्ड का हाल जाना गया तो यहां भी स्थिति ठीक नहीं मिली। हालांकि वार्ड में मरीजों की संख्या कम थी। लेकिन कई मरीज बिना पंखे के ही लेटे थे। एक बुजुर्ग तो परेशान होकर बैठे-बैठे कभी सिर खुजलाता तो कभी बाहर जाता। वार्ड में 18 मरीज भर्ती थे, 10 अप्रेल को सात मरीज डायरिया के भर्ती हुए थे। दोनों वार्डों में गूगल से तापमान देखा गया तो ३९ डिग्री से ऊपर आया।


डायरिया के मरीज बढ़े


फिजीशियन डा. मोहम्मद आरिफ ने बताया कि दो-तीन दिनों से डायरिया के मरीज बढ़ रहे हैं। इस दौरान लोगों को खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। शीतल पेयजल आदि का नियमित सेवन करें। भरपेट भोजन नहीं करें। देशी मौसमी खाद्य व वेय पदार्थों का सेवन करें। दोपहर के समय कम से बाहर निकले। बाहर में खुली चीजों को खाने से बचें।


चार दिनों में इतने मरीज भर्ती हुए


दिनांक----भर्ती मरीज -----बाह्य मरीज


08----- ---71 --------------1084
09--------- 142 ----------2460
10-------- 122 -----------2198
11---------- 98 -----------1822


इनका कहना है...........


अस्पताल में कूलर व पंखों को सही कराने के लिए आदेश दिए गए हैं। कुछ पंखे बनने के लिए गए हैं। मरीजों को संख्या अधिक होने से कुछ परेशानी हुई। एक-दो दिन में पंखे लगवा दिए जाएंगे।
डा. जेएन खत्री, अधीक्षक, डीबी, अस्पताल, चूरू

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned