scriptतमिलनाडु शराब त्रासदी: कल्लकुरिची में अवैध शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 47 हुई | Tamil Nadu liquor tragedy: Death toll due to consumption of illicit liquor in Kallakurichi rises to 47 | Patrika News
समाचार

तमिलनाडु शराब त्रासदी: कल्लकुरिची में अवैध शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 47 हुई

Kallakurichi Illicit Liquor Deaths

चेन्नईJun 21, 2024 / 02:42 pm

PURUSHOTTAM REDDY

Kallakurichi Illicit Liquor Deaths
कल्लकुरिची. जिले में कथित तौर पर मेथेनॉल मिश्रित अवैध देशी शराब पीने से मरने वालों संख्या बढ़कर 47 हो गई। इसके अलावा करीब 100 से अधिक लोगों को अस्पताल में इलाज चल रहा है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है।
जांच आयोग गठित करने का निर्देश

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने अधिकारियों को मामले की जांच करने के लिए मद्रास उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश बी गोकुलदास के नेतृत्व में एक सदस्यीय आयोग गठित करने का भी निर्देश दिया। यह आयोग अवैध देशी शराब पीने से हुई मौतों के कारण की जांच करेगा। साथ ही ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए उठाए जाने वाले कदमों को लेकर सरकार से सिफारिशें करेगा।

मुख्यमंत्री ने बताया कि जहरीली शराब की बिक्री करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कल्लकुरिची जिला कलक्टर एमएस प्रशांत ने जिले के सरकारी मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल में इलाज करा रहे लोगों से मुलाकात की। कलक्टर ने बताया कि हालात से निपटने के लिए निकटवर्ती सरकारी मेडिकल कॉलेजों के विशेषज्ञों सहित पर्याप्त संख्या में चिकित्सकों को सेवा में लगाय़ा गया है।
एक आरोपी गिरफ्तार

अधिकारियों ने बताया कि अवैध शराब बेचने के आरोप में के. कन्नुकुट्टी (49) को गिरफ्तार किया गया है। उसके पास से जब्त लगभग 200 लीटर अवैध शराब में घातक मेथेनॉल की मौजूदगी का पता चला है। इसके अलावा कल्लकुरिची जिले की निषेध शाखा के पुलिसकर्मियों सहित नौ अन्य पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कहा राज्य के गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक इस मामले की जांच करने के बाद एक रिपोर्ट भी पेश करेंगे। स्टालिन ने मौतों पर दुख जताया और कहा इसे रोकने में विफल रहने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। कल्लकुरिची में मिलावटी शराब पीने वाले लोगों की मौत की खबर सुनकर मैं स्तब्ध और दुखी हूं। उन्होंने कहा अगर जनता ऐसे अपराधों में शामिल लोगों के बारे में जानकारी देती है तो तत्काल कार्रवाई की जाएगी। समाज को बर्बाद करने वाले ऐसे अपराधों को सख्ती से दबाया जाएगा।


10-10 लाख रुपए का मुआवजा

उन्होंने अवैध देशी शराब पीने से जान गंवाने वाले 35 लोगों के परिवारों को 10-10 लाख रुपए की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है। इसके अलावा उन्होंने अस्पतालों में इलाज करा रहे प्रत्येक व्यक्ति को 50,000 रुपए की सहायता देने की भी घोषणा की है। राज्य मंत्री ईवी.वेलु ने बताया कि पीडि़तों में दो महिलाएं और एक किन्नर भी शामिल है। इसके अलावा जीवन रक्षक प्रणाली वाली कई एम्बुलेंस भी वहां मौजूद हैं।

मंत्री ने यहां संवाददाताओं को बताया कि ऐसा नहीं माना जाना चाहिए कि द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के शासन में अवैध देशी शराब की बिक्री हुई है, बल्कि पिछली सभी सरकारों के कार्यकाल के दौरान ऐसी घटनाएं हुई हैं। उन्होंने कहा, हर सरकार चाहे वह द्रमुक हो या अन्नाद्रमुक, ने ऐसे मामलों में कड़ी कार्रवाई की है। वर्तमान सरकार भी कड़ी कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा, राज्य सरकार इस मामले में किसी को नहीं बख्शेगी। वेलु और तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एम सुब्रमण्यन प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए कल्लकुरिची में मौजूद हैं।

Kallakurichi Illicit Liquor Deaths

Hindi News/ News Bulletin / तमिलनाडु शराब त्रासदी: कल्लकुरिची में अवैध शराब पीने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 47 हुई

ट्रेंडिंग वीडियो