scriptबच्चा मर चुका था, माता ने मुझसे कहा कि तीन थप्पड़ मारो वह जिंदा हो जाएगा, पर तीसरा नहीं मार पाया | Patrika News
समाचार

बच्चा मर चुका था, माता ने मुझसे कहा कि तीन थप्पड़ मारो वह जिंदा हो जाएगा, पर तीसरा नहीं मार पाया

-रेलवे स्टेशन पर ढाई माह के मासूम की थप्पड़ मारकर हत्या करने वाले आरोपी को पुलिस छतरपुर से दमोह लेकर आई
-आरोपी ने पूछताछ में नहीं कबूला जुर्म, बताया सिद्ध प्राप्त बाबा

दमोहJun 09, 2024 / 07:40 pm

आकाश तिवारी

-रेलवे स्टेशन पर ढाई माह के मासूम की थप्पड़ मारकर हत्या करने वाले आरोपी को पुलिस छतरपुर से दमोह लेकर आई
-आरोपी ने पूछताछ में नहीं कबूला जुर्म, बताया सिद्ध प्राप्त बाबा
दमोह. रेलवे स्टेशन पर शनिवार की अल सुबह एक मासूम बच्चे की थप्पड़ मारकर की गई हत्या के आरोपी को पुलिस देर दमोह लेकर आई। वहीं, इसी मामले में एक नया मोड़ सामने आया है। पूछताछ में आरोपी का कहना है कि बच्चा मृत था। उसकी मां उसे गोद में लिए रो रही थी। वहां पर भीड़ भी थी। मुझे माता ने कहा कि बच्चे को तीन थप्पड़ मार दे वह जीवित हो जाएगा। इसी मंशा से मैंने बच्चे के गाल पर दो थप्पड़ लगाए और जैसे ही तीसरा थप्पड़ उसे जीवित करने मारना चाहा तो उसी समय उसका पिता मुझसे झगडऩे लगा। इसके बाद मैं वहां से भाग गया।
इधर, पुलिस ने आरोपी की पहचान जटाशंकर कॉलोनी निवासी कमलेश विश्वकर्मा के रूप में की है। आरोपी के संबंध में बताया गया है कि वह झाडफ़ूक का काम करता है। दिनाई और पीलिया रोग ठीक करने का दावा करता है। पुलिस आरोपी को मानसिक रोगी भी बता रही है।
यह था मामला…
बता दें कि शनिवार की अल सुबह प्लेटफार्म नंबर २ पर महिला रामसखी पत्नी लेखराम आदिवासी निवासी घोघरा थाना मडिय़ादो दिल्ली से लौटी थी। ढाई माह के मासूम को कुपोषण की शिकायत थी और वह बीमार था। उसका इलाज दमोह में कराने के लिए वह स्टेशन उतरी थी। महिला व उसके पति ने पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपी पर बच्चे की हत्या करने का संगीन आरोप लगाया था। मासूम बच्चे की थप्पड़ मारने से हुई मौत की खबर से पूरा प्रशासन हिल गया था। आनन-फानन में जीआरपी और स्थानीय पुलिस सक्रिय हुई और रात में ही आरोपी को छतरपुर जिले से हिरासत में ले लिया था।
-पीएम रिपोर्ट में नहीं निकला निष्कर्ष, अब एफएसल रिपोर्ट का इंतजार
कोतवाली टीआई आनंद सिंह ने बताया कि बच्चे की मौत कब हुई यह बात पीएम रिपोर्ट में सामने नहीं आई है। यह जानने के लिए मृत बच्चे का बिसरा प्रिजर्व किया है और एफएसल की मदद ली जा रही है। जांच रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। टीआई सिंह के अनुसार जीआरपी इस मामले की जांच कर रही है।
-इन बिंदुओं पर हो रही जांच
पति-पत्नी से मारपीट।
बच्चे से मारपीट।
जीवित अवस्था में बच्चे से मारपीट।
वर्शन

मारपीट के संबंध में आरोपी के विरुद्ध कायमी की गई है। हालांकि बच्चे की हत्या के मामले में अभी जांच पूरी नहीं हुई है। एफएसएल रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वजह का खुलासा हो पाएगा। मर्ग दर्ज कर जांच की जा रही है। पीडि़त परिजनों के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। आरोपी को भी हिरासत में लिया जा चुका है।
सारिका पाण्डेय, उप पुलिस अधीक्षक रेलवे कटनी

Hindi News/ News Bulletin / बच्चा मर चुका था, माता ने मुझसे कहा कि तीन थप्पड़ मारो वह जिंदा हो जाएगा, पर तीसरा नहीं मार पाया

ट्रेंडिंग वीडियो