scriptभीड़ ने ली तीन लोगों पर हमला करने वाले तेंदुए की जान | Patrika News
समाचार

भीड़ ने ली तीन लोगों पर हमला करने वाले तेंदुए की जान

इन सबके बीच भीड़ क्रोधित हो गई और कई लोग चीखने-चिल्लाने लगे और तेंदुए को खोजने लगे। तेंदुआ एक चट्टान के पास छिपा था।कुछ प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार भीड़ ने पत्थरों, डंडों और अन्य सामग्रियों से तेंदुए पर हमला कर उसे मार डाला।

बैंगलोरJul 08, 2024 / 07:51 pm

Nikhil Kumar

रायचूर जिले के देवदुर्ग तालुक के कामदल गांव के बाहरी इलाके में गुस्साई भीड़ ने एक तेंदुए leopard को मार डाला। घटना रविवार की है। लोगों के अनुसार, तेंदुए ने रविवार सुबह करीब 9 बजे काम पर जा रहे तीन लोगों पर हमला किया। तेंदुआ आसपास के इलाकों में रहता था और पिछले दिनों उसने तीन मवेशियों पर हमला किया था।
घायलों की पहचान रंगनाथ, पपय्या और रामू के रूप में हुई है और उन्हें देवदुर्ग के तालुक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। चिकित्सकों के अनुसार तीनों की हालत स्थिर है।

जब तेंदुए के हमले की खबर फैली, तो कामदल और आसपास के गांवों से कई लोग घटनास्थल पर पहुंचे। सूचना मिलने पर वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी, साथ ही पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और पींजरा लगाकर तेंदुए को पकडऩे की तैयारी की। वन अधिकारियों ने होसपेट से एक ट्रैंक्विलाइजर टीम भी बुलाई।
इन सबके बीच भीड़ क्रोधित हो गई और कई लोग चीखने-चिल्लाने लगे और तेंदुए को खोजने लगे। तेंदुआ एक चट्टान के पास छिपा था।कुछ प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार भीड़ ने पत्थरों, डंडों और अन्य सामग्रियों से तेंदुए पर हमला कर उसे मार डाला।
रायचूर के उप वन संरक्षक प्रवीण ने कहा, हमने तेंदुए को जिंदा पकडऩे के लिए पूरी तैयारी की थी क्योंकि होसपेट से गांव के रास्ते में ट्रैंक्विलाइजर थे। तीन से चार वर्ष के इस तेंदुए के शव को पोस्टमार्टम के लिए देवदुर्ग के पशु चिकित्सालय में भेज दिया गया है। प्रवीण ने यह भी कहा कि वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 के तहत मामला दर्ज किया जाएगा।

Hindi News/ News Bulletin / भीड़ ने ली तीन लोगों पर हमला करने वाले तेंदुए की जान

ट्रेंडिंग वीडियो