scriptपग फेरे की रस्म पूरी करने पीहर गई दो दुल्हनें नहीं लौटी वापस, ससुराल वालों को लगा गई चूना | Patrika News
समाचार

पग फेरे की रस्म पूरी करने पीहर गई दो दुल्हनें नहीं लौटी वापस, ससुराल वालों को लगा गई चूना

लाखों रुपए कीमत के गहने, नकदी, कपड़े व अन्य सामान दुल्हन ले गई साथ, दोनों दुल्हन व बिचौलिए सहित पांच जनों के खिलाफ हनुमानगढ़ टाउन थाने में धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज, दुल्हनें हरियाणा की रहने वाली, पुलिस जुटी जांच में

हनुमानगढ़Jul 06, 2024 / 12:37 pm

adrish khan

a case was registered against five people including both the bride and the middleman on charges of fraud in Hanumangarh Town police station

a case was registered against five people including both the bride and the middleman on charges of fraud in Hanumangarh Town police station

हनुमानगढ़. ब्याह के छह दिन बाद पग फेरे की रस्म पूरी करने की बात कहकर पीहर गई दो दुल्हनें वापस ससुराल नहीं आई। दोनों दुल्हनों ने ससुराल वालों को लाखों रुपए का चूना भी लगा दिया। क्योंकि नई नवेली दुल्हनें पीहर जाते समय अपने साथ लाखों रुपए कीमत के गहने, नकदी, कपड़े सहित अन्य सामान भी ले गई। दुल्हनों से जब उनके दूल्हों ने वापसी के लिए मोबाइल फोन के जरिए संपर्क किया तो लौटने से इनकार कर दिया। इसके बाद टाउन थाने में दोनों दुल्हनों व बिचौलिए सहित पांच जनों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया गया।
पुलिस के अनुसार विनोद कुमार (40) पुत्र मदनलाल जाट निवासी वार्ड 10, गांव नौरंगदेसर ने रिपोर्ट दी कि उसका व उसके छोटे भाई सुरजीत कुमार (37) का रिश्ता नहीं हो रहा था। गांव के इकबाल सिंह पुत्र भजन सिंह ने उनको बताया कि रतिया में उसका जानकार है जो रिश्ता करवाने का काम करता है। गत नौ मई को इकबाल सिंह उसे व उसके भाई को लड़कियों को दिखाने के लिए मलकीत सिंह के पास जाखल दादी की ढाणी, रतिया फतेहाबाद ले गया।

चांदनी व काजल ने लगाया चूना

परिवादी ने पुलिस को बताया कि रतिया में उनको चांदनी पुत्री राजू तथा उसकी बहन काजल से मिलवाया गया। वहां चांदनी की माता, उसका भाई व 5-6 अन्य लोग भी थे। मलकीत सिंह ने उन्हें कहा कि दोनों लड़कियों के साथ शादी करने के लिए पांच लाख रुपए देने पड़ेंगे। सहमति के बाद रिश्ता करने के लिए 50 हजार रुपए उन्हें मौके पर दे दिए। इसके बाद 20 मई को रतिया, फतेहाबाद में चांदनी की शादी परिवादी से तथा काजल की शादी उसके भाई सुरजीत से हो गई। आरोपी मलकीत सिंह, चांदनी की माता, चांदनी के भाई व 5-6 अन्य लोगों ने उनसे 5 लाख रुपए नकद ले लिए तथा लड़कियों को उनके साथ नौरंगदेसर विदा कर दिया। उन्होंने नौरंगदेसर आने के बाद चांदनी व काजल को करीब दो लाख रुपए के सोने के जेवरात, करीब एक लाख रुपए के कपड़े तथा 50 हजार रुपए नकदी के अलावा अन्य सामान भी दिया।

सास ने रस्म वास्ते बुलाया

पीडि़त विनोद कुमार ने पुलिस को बताया कि विवाह के तीन दिन बाद चांदनी की माता मनप्रीत कौर का फोन आया कि पग फेरे की रस्म के लिए लड़कियों को लेने उसकी मौसी का बेटा भाई रणजीत आएगा, उसके साथ भेज देना। वे दो-तीन दिन में ही वापस आ जाएंगी। 26 मई को रणजीत, उसकी माता व मलकीत सिंह लड़कियों को लेने आए। काजल एवं चांदनी आभूषण, नकदी व कपड़े बैग में डालकर तीनों के साथ पीहर रवाना हो गई। कुछ दिन बाद जब उन्होंने फोन कर चांदनी व काजल को आने का कहा तो उन्होंने आने से इनकार कर दिया और कहा कि ठगी करना ही उनका काम है। वे ना तो उनके साथ बसेंगी और ना ही उनके सोने-चांदी के जेवरात, रुपए, कपड़े आदि वापस करेंगी। दोनों भाइयों को झूठे मुकदमे में फंसाकर और रुपए ऐंठेंगी। पुलिस ने रिपोर्ट के आधार पर चांदनी, काजल, मनप्रीत कौर, मलकीत सिंह, रणजीत वगैरा के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जांच एएसआई अमीचन्द को सौंपी गई है।

Hindi News/ News Bulletin / पग फेरे की रस्म पूरी करने पीहर गई दो दुल्हनें नहीं लौटी वापस, ससुराल वालों को लगा गई चूना

ट्रेंडिंग वीडियो