scriptWeather: मानसून का इंतजार खत्म, गरज-चमक के साथ हुई झमाझम बारिश | Weather: The wait for monsoon is over, heavy rain accompanied by thunder and lightning | Patrika News
समाचार

Weather: मानसून का इंतजार खत्म, गरज-चमक के साथ हुई झमाझम बारिश

आज भी तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना

छिंदवाड़ाJun 22, 2024 / 12:59 pm

ashish mishra

छिंदवाड़ा. मानसून का इंतजार खत्म हो गया है। शुक्रवार को दक्षिण-पश्चिम मानसून पांढुर्ना जिले में प्रवेश कर गया। छिंदवाड़ा जिले में दोपहर तीन बजे के बाद झमाझम बारिश हुई। हालांकि जिले में कुछ क्षेत्रों में अधिक तो कुछ क्षेत्रों कम बारिश हो रही है। ऐसे में कम बारिश वाले क्षेत्रों में किसान चिंतित हैं। दरअसल कई किसानों ने बोवनी कर दी है। उन्हें उम्मीद थी कि इस बार समय से झमाझम बारिश होगी और उनकी फसलों को पर्याप्त पानी मिल जाएगा, लेकिन मानसून लगभग दस दिन की देरी हो चुकी है। कृषि अनुसंधान केन्द्र के वैज्ञानिकों ने सलाह दी है कि चार इंच बारिश के बाद ही बोवनी की जाए।
इससे पहले शुक्रवार को सुबह से ही धूप-छांव का दौर चला जो शाम तक जारी रहा। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली। दोपहर तीन बजे के बाद मौसम बदला और रिमझिम बारिश शुरु हो गई जो बाद में तेज बारिश में तब्दील हो गई। इस दौरान बादल भी खूब गरजे। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 35 डिसे एवं न्यूनतम तापमान 24 डिसे रिकॉर्ड किया गया।
23 जून तक तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना
मौसम विभाग ने 23 जून तक घने बादल रहने एवं तूफान, बिजली और तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना जताई है। अधिकतम तापमान 33-36 डिग्री सेन्टीग्रेट एवं न्यूनतम तापमान 19-23 डिग्री. सेन्टीग्रेट के मध्य रहने की संभावना है। अधिकतम सापेक्षित आद्र्रता 72-81 प्रतिशत एवं न्यूनतम सापेक्षित आद्र्रता 31-38 प्रतिशत रहने की संभावना है। आने वाले दिनों में हवा पश्चिम दिशा में बहने एवं 11-20 किमी प्रति घंटे की गति से चलने की संभावना है।
किसानों को खेतों की तैयारी करने की सलाह
कृषि अनुसंधान केन्द्र ने किसानों को खेतों की तैयारी एवं बूबाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने की सलाह दी गई है। बोवनी हेतु मध्य जून से जुलाई के प्रथम सप्ताह का समय उपयुक्त है। मानसून आगमन के पश्चात जिन स्थानों पर लगभग 100 मिमी वर्षा हो गई है वहां बुवाई की जा सकती है। जून में समय पर बुवाई करने से गुलाबी बोर्लवर्म के शुरुआती संक्रमण से बचने में मदद मिलती है। इसलिए किसानों को सलाह दी गई है कि वे जल्द से जल्द बुआई पूरी करें। खरीफ सब्जियों की बुवाई के लिए मौसम अनुकूल है। किसानों को सलाह दी गई है कि वे मृदा परीक्षण के आधार पर उर्वरकों का प्रयोग करें।
मौसम का नया पैटर्न चिंता का विषय
वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डॉ. विजय पराडकऱ का कहना है कि शुक्रवार को मानसून ने छिंदवाड़ा में दस्तक दे दिया है। हालांकि इस बार नया पैटर्न देखने को मिल रहा है। समान बारिश नहीं हो रही है। जिले में कहीं ज्यादा तो कहीं कम बारिश हो रही है जो चिंता का विषय है।
जिले में अभी तक 75.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज
छिंदवाड़ा. जिले में अभी तक 75.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है, जबकि गत वर्ष इस अवधि तक 5.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई थी। जिले में 21 जून को सुबह 8 बजे समाप्त 24 घंटों के दौरान 5.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। 21 जून को सुबह 8 बजे समाप्त 24 घंटों के दौरान तहसील छिंदवाड़ा में 2.4, अमरवाड़ा में 37.2, चौरई में 01, हर्रई में 11.6 और चांद में 8.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। जिले में एक जून से अभी तक तहसील छिंदवाड़ा में 72.7, मोहखेड़ में 27.9, तामिया में 59, अमरवाड़ा में 156.2, चौरई में 63.5, हर्रई में 36, बिछुआ में 54, परासिया में 97.1, जुन्नारदेव में 59.4, चांद में 88.4 और उमरेठ में 114 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है।

Hindi News/ News Bulletin / Weather: मानसून का इंतजार खत्म, गरज-चमक के साथ हुई झमाझम बारिश

ट्रेंडिंग वीडियो