scriptआपकी थाली में कौन सा नमक है,सेंधा,काला या टेबल सॉल्ट | Patrika News
समाचार

आपकी थाली में कौन सा नमक है,सेंधा,काला या टेबल सॉल्ट

BHOPAL- इन दिनों राजधानी की सडक़ों पर सफेद और काला पत्थर से लदी बैलगाड़ी व ट्रैक्टर ट्राली अक्सर दिख जाती हैं। धड़ल्ले से बिक रहे इस नमक की शुद्धता की जांच की कोई व्यवस्था नहीं है। हाल ही में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी आइसीएमआर ने नमक को लेकर कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जिसके […]

भोपालJun 18, 2024 / 12:39 am

Mahendra Pratap

BHOPAL- इन दिनों राजधानी की सडक़ों पर सफेद और काला पत्थर से लदी बैलगाड़ी व ट्रैक्टर ट्राली अक्सर दिख जाती हैं। धड़ल्ले से बिक रहे इस नमक की शुद्धता की जांच की कोई व्यवस्था नहीं है। हाल ही में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी आइसीएमआर ने नमक को लेकर कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जिसके मुताबिक अलग-अलग प्रकार के नमक के बावजूद सभी नमक में सोडियम की मात्रा लगभग समान होती है। इसलिए किसी खास तरह के नमक के सेवन करने से बचना चाहिए। विशेषकर वह नमक जो आयोडीनयुक्त न हो। क्योंकि, कोई भी नमक प्रतिदिन ढाई ग्राम ज्यादा खाने से त्वचा की गंभीर बीमारी एक्जिमा के खतरे 20 से 22 फीसदी तक बढ़ सकते हैं।
कौन सा नमक बेहतर कौन
यह धारणा है कि गुलाबी हिमालयन नमक (सेंधा नमक) और काला नमक लौह, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और मैंगनीज जैसे दूसरे खनिजों के कारण बेहतर है। गुलाबी नमक व्रत में इस्तेमाल होता है। जबकि काला नमक, ज्यादातर मसालों में इस्तेमाल किया जाता है।
टेबल नमक
अमूमन, हर घर में टेबल नमक यानी परिष्कृत नमक का इस्तेमाल होता है। इसमें न्यूनतम सोडियम क्लोराइड सामग्री 97 फीसदी है और एसिड अघुलनशील पदार्थ 1 फीसदी से भी कम होता है। यह आयोडीन युक्त होता है।
प्रतिदिन दो ग्राम नमक की जरूरत
आइसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार स्वाद के कारण अक्सर लोग प्रतिदिन 10 ग्राम से ज्यादा खा रहे हैं। 10 ग्राम नमक में लगभग 4 ग्राम सोडियम होता है। यह मात्रा शरीर के लिए खतरनाक हो सकती है। क्योंकि शरीर को प्रति दिन सिर्फ दो ग्राम नमक की ही जरूरत है।
नमक का काम
नमक में सोडियम क्लोराइड होता है। यह शरीर में पानी की मात्रा को नियंत्रित करता है।
दुनिया का सबसे महंगा नमक
दुनिया का सबसे मंहगा नमक एमेथिस्ट बैंबू है। इस कोरियाई नमक को बैंबू सिलेंडर में भरकर बनाया जाता है। इसे तैयार करने में करीब 50 दिन लगता है। इस नमक के 240 ग्राम पैकेट की कीमत 7000 रुपए से ज्यादा होती है।
सडक़ों पर कौन बेच रहा नमक
राजधानी में सडक़ पर बिकने वाला नमक राजस्थान के गंगा नगर हनुमान टेकरी से आए घुमक्कड़ जाति के लोग बेच रहे हैं। ये राजस्थान से ही ट्राली भर भरकर काला और सफेद नमक लाते हैं। ये गैस, बीपी, मधुमेह आदि रोगों में कारगर होने का दावा करते हुए नमक बेचते हैं। इनकी कोई जांच भी नहीं होती।
अतिरिक्त सोडियम से नुकसान
मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ.योगेंद्र श्रीवास्तव के अनुसार अतिरिक्त सोडियम रक्तचाप और हृदय सम्बन्धी रोगों को बढ़ाता है। नमक का ज्यादा सेवन मोटापा, किडनी संबंधी रोगों और गैस्ट्रिक कैंसर के लिए भी जिम्मेदार होता है।
सडक़ पर बिक रहे नमक की जानकारी ली जाएगी। यह नमक है भी या नहीं इसकी जांच कराएंगे।
देवेंद्र दुबे,खाद्य सुरक्षा अधिकारी

Hindi News/ News Bulletin / आपकी थाली में कौन सा नमक है,सेंधा,काला या टेबल सॉल्ट

ट्रेंडिंग वीडियो