हमारी  हिंगलाज सेना लगाऐंगी शराब के साथ सभी नशों पर लगाम: स्वामी स्वरूपानंद

Gwalior, Madhya Pradesh, India
हमारी  हिंगलाज सेना लगाऐंगी शराब के साथ सभी नशों पर लगाम: स्वामी स्वरूपानंद

यह बात द्वारिका-शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने रविवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही....

ग्वालियर। शराब ही नहीं सभी तरह के नशों पर रोक लगनी चाहिए। हमने इसके लिए हिंगलाज सेना बनाई है, जिसके द्वारा समय-समय पर नशे पर रोक लगाने के लिए अभियान चलाते रहते हैं। यह बात द्वारिका-शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने रविवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही। ग्वालियर प्रवास पर आए स्वामी स्वरूपानंद ने कई मुद्दों पर चर्चा की।

राम मंदिर राजनीति का मुद्दा न बने
राम मंदिर के बारे में पूछे जाने पर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि सरकार द्वारा जनता में भ्रामक प्रचार फैलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री पीवी नरसिंहराव ने अयोध्या में 67 एकड़ भूमि का अधिग्रहण कर लिया था। वह तो सरकार की है। उसे सरकार को देने में क्या हर्ज है। उन्होंने कहा कि बाद में उच्च न्यायालय ने एक फैसला देकर उसे तीन हिस्सों में बांट दिया। जो अब उच्चतम न्यायालय में चल रहा है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में बाबर कभी गया ही नहीं वहां पर मंदिर था। उसके प्रमाण थे लेकिन वह तोड़ दिए गए। उन्होंने कहा कि मुसलमानों को रामजन्मभूमि से कोई लेना देना ही नहीं था। मुसलमानों से बात कर मस्जिद कहीं अन्यत्र बनाने की बात पर उन्होंने कहा कि बहुमत राम मंदिर के पक्ष में है वहां मंदिर बनना चाहिए। इसे राजनीति का मुददा नहीं बनाना चाहिए।

कश्मीर में सेना को फ्री हैंड छोड़ दें
काश्मीर में सेना पर पथराव की घटनाओं के बारे में पूछे जाने पर स्वामी जी ने कहा कि वहां सेना को फ्री हेंड छोडऩा चाहिए। वहीं कश्मीर से धारा 370 को समाप्त करना चाहिए और कश्मीरी पंडितों को फिर से बसाया जाना चाहिए इसी के साथ जब तक वह बस नहीं जाते उन्हें जहां है वहीं से वोट देने का अधिकार देना चाहिए। 

मुसलमानों के लिए बने संविधान
तीन तलाक के मामले पर पूछे जाने पर स्वामी जी ने कहा कि इसका प्रचार-प्रसार ज्यादा है। उन्होंने कहा कि जब हिन्दुओं के लिए संविधान बना तो मुसलमानों के लिए बनाने में क्या हर्ज है। मध्यप्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा नर्मदा की पदयात्रा करने के बारे में पूछे जाने पर स्वामी जी ने कहा कि वह निष्पक्ष भाव से यात्रा करें इसमें क्या हर्ज है। 

गो हत्या पर रोक लगाए सरकार 
केन्द्र सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि उसे सबसे पहले गोहत्या पर रोक लगाना चाहिए। साथ ही नदियों को भी प्रदूषित होने से रोक लगाने पर तेजी से अमल करना चाहिए। शंकराचार्य ने केन्द्र सरकार के स्वच्छ भारत अभियान पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि उसके अभियान से गंदगी ज्यादा हो रही है। गांवों में शौचालय तो बन गए लेकिन पानी नहीं होने से वहां वही के वही हाल हैं। एक प्रश्न के जवाब में स्वामी जी ने खुले में शौच जाने को अनिवार्य बताया। उन्होंने कहा कि सरकार ने अभियान तो शुरू कर दिया लेकिन उसके परिणाम क्या होंगे इस पर विचार नहीं किया। सरकार को इन परिणामों पर भी विचार करना चाहिए। 

शांतिपूर्ण आंदोलन पर सरकार ध्यान नहीं देती
किसानों के आंदोलन के बारे में पूछे जाने पर स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि किसान आंदोलन क्या अन्य आंदोलनों को लेाकतंत्र की सरकारें पहले शांतिप्रिय शुरू होने पर तवज्जो नहीं देती हैं और जब आंदोलन होता है उसके बाद सरकारें ध्यान देती हैं।  किसान आंदोलन के दौरान मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उपवास के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। 

राम मंदिर राजनीति का मुद्दा न बने
राम मंदिर के बारे में पूछे जाने पर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि सरकार द्वारा जनता में भ्रामक प्रचार फैलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री पीवी नरसिंहराव ने अयोध्या में 67 एकड़ भूमि का अधिग्रहण कर लिया था। वह तो सरकार की है। उसे सरकार को देने में क्या हर्ज है। उन्होंने कहा कि बाद में उच्च न्यायालय ने एक फैसला देकर उसे तीन हिस्सों में बांट दिया।

जो अब उच्चतम न्यायालय में चल रहा है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में बाबर कभी गया ही नहीं वहां पर मंदिर था। उसके प्रमाण थे लेकिन वह तोड़ दिए गए। उन्होंने कहा कि मुसलमानों को रामजन्मभूमि से कोई लेना देना ही नहीं था। मुसलमानों से बात कर मस्जिद कहीं अन्यत्र बनाने की बात पर उन्होंने कहा कि बहुमत राम मंदिर के पक्ष में है वहां मंदिर बनना चाहिए। इसे राजनीति का मुददा नहीं बनाना चाहिए। 

खनन पर रोक लगाई जाए
स्वामी जी ने कहा कि नदियों की स्थिति भी ठीक नहीं है। सबसे पहले नर्मदा प्रदूषण मुक्त थी लेकिन अब वह प्रदूषण की चपेट में आ गई है। वहीं रेत के खनन से गड्ढे हो गए हैं और पानी जगह-जगह रूक कर प्रदूषित हो रहा है। ऐसे में मानव को नुकसान हो रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned