बीमारी से ज्यादा तपन का दर्द झेल रहे मरीज

Shajapur Desk

Publish: Apr, 21 2017 12:20:00 (IST)

Agar Malwa, Madhya Pradesh, India
बीमारी से ज्यादा तपन का दर्द झेल रहे मरीज

वॉर्डों में बंद पड़े हैं कूलर, ठंडा पानी भी नही मिल रहा पीने को, चिकित्सकों के चैंबरों मे चल रहे एसी और  कूलर, जिम्मेदार मौन

आगर-मालवा. दिन-प्रतिदिन तापमान मे होती बढ़ोत्तरी से अब लोगों का जीना मुहाल हो गया है। सूरज से निकल रही इस तपिश से लोग अब परेशान हो चुके हैं। अप्रैल में ही मई-जून जैसी चिलचिलाती धूप की तपन से लोग परेशान होने लगे हंै। वही लू के थपेड़ों ने भी लोगो का जीना मुश्किल कर दिया है । एेसे हालात में सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को। यहां उन्हें बीमारी के दर्द से ज्यादा इस भीषण गर्मी का दर्द झेलने पड़ रहा है। वार्ड में रखे कूलर भी दम तोड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। मरीजो को पंखों की गर्म हवा में अपना समय बिताना पड़ रहा है। वहीं चिकित्सकों के लिए एसी और कूलर चालू हैं।
अस्पताल प्रशासन के गैर जिम्मेदाराना रवैये से मरीजों को गर्मी से बचाव के लिए बेहतर सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। यहां  प्रत्येक वार्ड में मरीजों को ठंडी हवा देने के लिए एक-एक कूलर ही लगाए गए हैं। वही इनमें से भी कुछ वार्ड तो ऐसे हैं जहां ये कूलर पूर्णरूप से बंद पड़े हैं। पुरुष वार्डमे भी अस्पताल प्रशासन ने कूलर तो रखवा दिया लेकिन कूलर खराब पड़ा हुआ है।  
घर से पंखे लाने को मजबूर लोग
महिला परिसर मे स्थित तीन महिला वार्डों मे  मात्र एक-एक कूलर हैं। इनकी हवा केवल उसे ही जाती है जो इसके नजदीक सोता है बाकि महीला मरीजो को गर्मी से परेशान होना पड़ा रहा है। कई मरीज मुश्किलों के समय अपने घर से कूलर व पंखे लाने को मजबूर हो गए हैं।  
चिकित्सकों के चैंबरों में अच्छे कूलर 
जिला अस्पताल मरीज भले ही परेशान होते रहे लेकिन चिकित्सको के लिए बेहतर व्यवस्था की है। चिकित्सकों के चैंबरों में अस्पताल प्रशासन ने अच्छे कूलर लगवा रखे है। वही जब चिकित्सक अपने चैंबरो मे नहीं रहते है तब भी ये कूलर चैंबर ठंडा करते रहते हैं। कुछ चिकित्सक तो हमेशा अस्पताल में स्थित एक एसी रूम में ही बैठे      रहते हैं।
प्रसूति वार्ड के एसी बंद
प्रसूति वार्ड में पूर्व में दो एसी लगाए गए थे, लेकिन दोनों एसी वर्तमान मे बंद पड़े हुए हैं। इस प्रकार की स्थिति मे इस वार्ड में महिलाओं को काफी परेशान होना पड़ रहा है। वही नवजात शिशु पंखों की गर्म हवा से सबसे ज्यादा परेशान हो गए है। यहां पर दो में से एक एसी तो जला पड़ा है जिसको आज तक नहीं सुधरवाया गया।
वाटर कूलर खराब,      दे रहे गर्म पानी
अस्पताल परिसर मे एक वाटर कूलर खराब स्थिति मे बाहर ही पड़ा हुआ है। वही एक वाटर कूलर से ठंडा पानी आने की बजाए गर्म पानी आ रहा है। हालांकि अस्पताल की ओर ओपीडी के बाहर पानी के मटके रखे गए हैं, लेकिन इनमे भरे जाने वाले पानी की गुणवत्ता काफी खराब है। वहां जिस पानी की टंकी से पानी भर जा रहा है, वह कई समय से साफ नहीं हुई है।
कई कूलर पड़े हैं खराब
 जिला अस्पताल प्रशासन के पास कूलरों की कमी नहीं है। अस्पताल परिसर में कई कूलर पड़े हुए हंै लेकिन सभी खराब स्थिति में है। इन्हे सुधरवाने के लिए अस्पताल प्रशासन ने कोई कोशिश नहीं की।
गर्मी से बढ़ रहे मरीज:  गर्मी से रोज 400 से अधिक मरीज पहुंच रहे हैं। इससे वार्डों में पलंग ही कम पड़ गए। सोमवार को 523, मंगलवार को 440, बुधवार को 388 तथा गुरुवार को 450 से अधिक मरीज आए। 
& भीषण गर्मी में मरीजों को निश्चित ही परेशानी हो रही होगी। मरीजों के लिए कूलर की पर्याप्त व्यवस्था करने तथा प्रसूति वार्ड की एसी व पीने के लिए ठंडे पानी की व्यवस्था करने के लिए अस्पताल प्रशासन को कहा जाएगा। 
 मिलिंद ढोके, एसडीएम आगर
& मै अभी अवकाश पर हूं अस्पताल की व्यवस्थाओं के संबंध मे मुझे जानकारी नही है जैसे मे ही ड्यूटी जाईन करुंगा सबसे पहले जिला अस्पताल मे व्याप्त अव्यवस्थाओं को दूर करने के लिए सीएस को निर्देशित करुंगा
बीएस बारिया, सीएमएचओ आगर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned