भ्रमित न हों, 28 अप्रेल को ही मनाएं अक्षय तृतीया!

suchita mishra

Publish: Apr, 21 2017 03:52:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
 भ्रमित न हों, 28 अप्रेल को ही मनाएं अक्षय तृतीया!

ज्योतिषाचार्य ने बताया मुहुर्त और महत्व के बारे में।

आगरा। इस बार अक्षय तृतीया दो दिनों की बताई जा रही है 28 अप्रेल और 29 अप्रेल। इसको लेकर लोग असमंजस में पड़ गए हैं कि आखिर इसे किस दिन मनाएं। ज्योतिषाचार्य डॉ अरविंद मिश्र से जानते हैं इसके बारे में—

पूरे दिन रहेगा 28 को मुहुर्त

ज्योतिषाचार्य के मुताबिक अक्षय तृतीया 28 अप्रेल को सुबह 10:29 बजे से शुरू होगी और 29 अप्रेल को सुबह 6:49 मिनट तक चलेगी। 28 को यह पूरे दिन रहेगी साथ ही 1:39 मिनट पर रोहिणी नक्षत्र लग जाएगा। इस नक्षत्र में खरीददारी करना शुभ माना जाता है। इसलिए अक्षय तृतीया 28 तारीख को ही मनाएं।

देखें वीडियो



मां लक्ष्मी और विष्णु भगवान का पूजन

इस दिन मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा करें। माता लक्ष्मी जहां वैभव की देवी हैं वहीं भगवान विष्णु संसार के पालनहारी हैं। इनके पूजन से घर में सुख—सम्पन्नता बनी रहती है। मां लक्ष्मी के पूजन में उन्हें गुलाब की माला अर्पित करें। कौड़ी, गोमती चक्र और दक्षिणावर्ती शंख आदि रखें और मंत्र का जाप कमलगट्टे की माला से करें। ऐसा करने से मां प्रसन्न होती हैं।

दान करें

इस दिन सोना खरीदना तो अच्छा माना ही जाता है लेकिन इस दिन गरीबों को दान का भी विशेष महत्व है। इस दिन किए किसी भी अच्छे कार्य का पुण्य कभी समाप्त नहीं होता। इसलिए अपनी क्षमतानुसार किसी गरीब को गुड़, घी, वस्त्र और स्वर्ण आदि दान करें। गंगा स्नान करना भी उत्तम है। इसके अलावा यह अनसूझता सहालक है इसलिए इस दिन गृहप्रवेश, शादी आदि कोई शुभकार्य कर सकते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned