मुलायम की जिस सोच को अखिलेश ऩे नकारा, राहुल ने अपनाया!

Agra, Uttar Pradesh, India
मुलायम की जिस सोच को अखिलेश ऩे नकारा, राहुल ने अपनाया!

राष्ट्रपति चुनाव के बीच कांग्रेस गुपचुप तरीके से 2019 की तैयारी कर रही है।


आगरा। एक तरफ देश में राष्ट्रपति चुनाव को लेकर राजनैतिक सरगर्मी तेज है वहीं कांग्रेस ने खोई जमीन तलाशने के लिए बड़ी तैयारी शुरू कर दी है। कांग्रेस मुलायम सिंह की योजना पर कार्य करती दिख रही है। कांग्रेस अब पुराने छात्र नेताओं के जरिए छात्रों और किसानों के बीच मजबूत पकड़ बनाने की कोशिश कर रही है। बता दें कि मुलायम सिंह यादव भी सदैव अपनी पार्टी से छात्रों को अधिकाधिक संख्य़ा में जोड़ने के पक्षधर रहे हैं लेकिन अबकी इस दिशा में कांग्रेस बाजी मारती दिख रही है।

पुराने छात्र नेताओं को जोड़ेगी कांग्रेस
कांग्रेस ने इस मंशां को पूरी करने के लिए जन आंदोलन समिति को सक्रिय करने की योजना बनाई है। जन आंदोलन समिति में कांग्रेस से जुड़े पूर्व छात्र नेताओं को सक्रिय कर जिम्मेदारियां दी रही हैं। इन पूर्व छात्र नेताओं पर निष्कि्रिय हो चुके पुराने छात्र नेताओं को दोबारा पार्टी से जोड़ कर सक्रिय भूमिका में लाने की भी जिम्मेदारी रहेगी। पू्र्व छात्र नेताओं के जरिए पार्टी एक बार फि उन कॉलेजों में भी अपनी पैठ बनाएगी जहां पढ़ने वाले अधिसंख्य छात्र कभी कांग्रेस पार्टी की ताकत हुआ करते थे।

Mahendra Rawat

एडवोकेट रावत को मिली बड़ी जिम्मेदारी
इसी क्रम में आगरा कॉलेज के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र रावत को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। एड. महेंद्र रावत को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की जन आंदोलन सिमित का सह प्रभारी बनाया गया है। जन आंदोलन समिति के प्रभारी एसपी गोस्वामी ने महेंद्र रावत को यह दायित्व सौंपते हुए कहा है कि सभी पुराने छात्र नेताओं को जोड़कर फिर से उनकी सक्रियता कायम की जाए। एड. रावत को आगरा मंडल का प्रभार भी दिया गया है। कांग्रेस के इस कदम को 2019 की तैयारी से जोड़कर देखा जा रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned