एडवोकेट्स संशोधन बिल 2017 के विरोध में अधिवक्ताओं ने दिखाई ताकत, देखें वीडियो

Dhirendra yadav

Publish: Apr, 21 2017 07:22:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
 एडवोकेट्स संशोधन बिल 2017 के विरोध में अधिवक्ताओं ने दिखाई ताकत, देखें वीडियो

अधिवक्ताओं ने दीवानी चौराहे पर पर संशोधन बिल की प्रतियां जलाकर विरोध प्रदर्शन किया।

आगरा। एडवोकेट्स (संशोधन) बिल 2017 के विरोध में अधिवक्ताओं की प्रदेश व्यापी हड़ताल कर बार कौंसिल के आहवान पर ग्रेटर आगरा बार एसोसिएशन आगरा ने शुक्रवार को न्यायिक कार्य का बहिष्कार किया। इसी क्रम में अधिवक्ताओं ने दीवानी चौराहे पर पर संशोधन बिल की प्रतियां जलाकर विरोध प्रदर्शन किया और विरोध ज्ञापन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के नाम एडीएम फाइनेंस को सौंपा।

हस्ताक्षर अभियान चलाया गया
अधिवक्ताओं ने हस्ताक्षर अभियान चलाया गया, जिसमें बड़ी संख्या में अधिवक्ताओं ने हस्ताक्षर कर विरोध किया। इन हस्ताक्षरों के पेपर्स ज्ञापन के साथ राष्ट्रपति के नाम सौंपे गए। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता दुर्गविजय सिंह भैये ने कहा कि देश की स्वतंत्रता के पूर्व से उन बिन्दुओं का स्मरण करें, तो अधिवक्ता समाज की भी इस देश को आजाद कराने में महत्वपूर्ण भूमिका रही है। ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई कि अधिवक्ताओं की समस्याओं एवं उनके द्वारा गलत किए जाने वाले एक्ट को संबंध में बार कौंसिल आॅफ उत्तर प्रदेश एवं बार कौंसिकल आॅफ इंडिया है, जिसके तहत समस्त कार्रवाई निष्पादित है। अधिवक्तागण पांच वर्ष के अंदर चुनाव कर बार कौंसिल के लिए अपने मैम्बर चुनते हैं तथा पांच वर्ष तक वे मैम्बर कार्यरत रहते हैं। ऐसी स्थिती में अन्य किसी प्रकार के संशोधन की आवश्यकता नहीं रह जाती है।

देखें वीडियो -

ये है साजिश
ज्ञापन के माध्यम से बताया गया कि इन सबसे ऐसा लगता है कि अधिवक्ताओं पर पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर साजिश के तहत ताकतवर लोगों द्वारा नुकसान पहुंचाने का मन बना लिया है, जिसमें पूर्व जस्टिस बीएस चौहान चेयरमैन लॉ कमीशन की भूमिका स्पष्ट तौर से नजर आ रही है। 

देखें वीडियो -

देश का लोकतंत्र पड़ जाएगा खतरे में
अधिवक्ताओं ने कहा कि बीएस चौहान लॉक कमीशन का उपरोक्त प्रस्ताव वित्त संशोधन बिल संसद में पारित हो गया, तो निर्भीक पेशा तो समाप्त होगा ही, साथ ही देश का लोकतंत्र भी खतरे में पड़ जाएगा। प्रदर्शन करने वालों में महेश बघेल, दुर्गेश सिंह, रूपेश कुलश्रेष्ठ आदि के साथ सैकड़ों की संख्या में अधिवक्ता मौजूद रहे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned