जाली नोट कारोबार: फातिमा उगलेगी राज, तो फंसेंगे ये सब

Abhishek Saxena

Publish: Feb, 17 2017 01:16:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
जाली नोट कारोबार: फातिमा उगलेगी राज, तो फंसेंगे ये सब

खुफिया विभाग की टीम कई इलाकों में छानबीन कर रही है। 

आगरा। थाना एत्माउद्दौला क्षेत्र निवासी फातिमा बेगम जाली नोट के लिए जिस रैकेट में काम करती थीं। उस रैकेट के तार कहां तक फैले हैं, इसकी जांच की जा रही है। बांग्लादेश के शरणार्थी के दौर पर या फिर मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में रिश्तेदारियों में आने वाले बांग्लादेशियों का रिकॉर्ड खंगालने की तैयारी है। खुफिया विभाग की टीम आगरा में कई इलाकों में छानबीन कर रही है। 

नोट कहां चलाए
फातिमा बेगम और बांग्लादेश का जाली नोट का सरगना अब्दुल सलाम आगरा में करीब नौ लाख रुपये के जाली नोट खपा चुके थे। सूत्रों के मुताबिक जिन स्थानों पर इन्होंने जाली नोट चलाए थे, वहां तक खुफिया तंत्र पहुंच रहा है। बताया गया है कि कुछ सट्टेबाज इनके संपर्क में थे। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोट बंदी का ऐलान किया, तो सट्टे बाजों का बाजार चौपट हो गया। ऐसे में अब्दुल और फातिमा ने सट्टेबाजों के लिए नोट खपाए, ऐसे सूत्रों का कहना है। पुलिस को सट्टेबाजी की भनक है, लेकिन हाथ डालने से कतरा रही है। 

सट्टे की खाईबाड़ी का अड्डा है एत्माउद्दौला
फातिमा जिस इलाके में रहती हैं, वहां जाली नोट चलाना काफी आसान होता है। एत्माउद्दौला का सुशील नगर क्षेत्र ऐसा क्षेत्र हैं, जहां गोरखधंधे जमकर होते हैं। जुए की फड़ दिन भर सजी रहती हैं तो सट्टे की खाई बाड़ी के लिए यमुना पार का इलाका मशहूर है। लेकिन पुलिस उनके हाथों की कठपुतली बन गई हैं, जो सब कुछ जानकर ऐसे सट्टेबाजों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती हैं। एनआईए और यूपी एसटीएफ अब सट्टेबाजों के खिलाफ कार्रवाई कर सकती हैं, ऐसा विश्वसनीय सूत्रों से सामने आ रहा है। क्योंकि फातिमा से होने वाली पूछताछ में सट्टेबाज बेनकाब हो जा सकते हैं।  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned