नए डीजीपी सुलखान सिंह के काम करने का तरीका है खास, जानिए कैसे 

Dhirendra yadav

Publish: Apr, 21 2017 09:41:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
नए डीजीपी सुलखान सिंह के काम करने का तरीका है खास, जानिए कैसे 

नए डीजीपी सुलखान सिंह के बारे में जानकर, उड़ जाएंगे भ्रष्ट्राचारियों के होश।

धीरेन्द्र यादव 
आगरा। योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रदेश की कानून व्यवस्था आईपीएस सुलखान सिंह को सौंपी है। सुलखान सिंह आगरा की सांसों में बसते हैं। चौंकिए मत। वे आगरा में 1987 के अंत में एसपी सिटी बनकर आए थे। दो जोड़ी कपड़ों में चलने वाले सुलखान सिंह बहुत ही साधारण तरीके  से रहते थे, लेकिन खासियत यह थी, उनके चार्ज लेने के बाद आगरा का माहौल ही बदल गया। 

स्वीटी कांड के खुलासे से हीरो बने थे सुलखान सिंह
वरिष्ठ पत्रकार विनोद भारद्वाज ने बताया कि वो दौर था, जब कांग्रेस की सरकार थी। उस समय कमला नगर की एक युवती का पूरे आगरा में हल्ला था। स्वीटी की जुगाड़ पुलिस प्रशासन से लेकर राजनीतिक लोगों तक थी। उसके संबंध राजधानी तक थे। सबको अपने इशारों पर नचाने वाली स्वीटी सुलखान सिंह के चंगुल में फंसी, तो निकल नहीं पाई। सुलखान सिंह ने स्वीटी की गिरफ्तारी की, वो भी बिना एसएसपी और डीआईजी को बताए। हालांकि राजनीतिक दबाव बहुत अधिक था, लेकिन निर्भीक, निडर एसपी सिटी सुलखान सिंह के आगे किसी की नहीं चली। 

आगरावालों के दिल में बनाई जगह
विनोद भारद्वाज ने बताया कि उनके लम्बे पत्रिकारिता के कार्यकाल में सुलखान सिंह पहले ऐसे एसपी सिटी आगरा में रहे, जिन्होंने जनता के दिल में जगह बनाई। सुलखान सिंह की कार्यशैली से जनता इतनी प्रभावित थी, कि जब 1989 के अंत में उनका तबादला मेरठ हुआ, तो लोगों को दुख हुआ। लोग चाहते थे, कि वे आगरा में रुकें। पहले ऐसे अधिकारी थी, जिनकी विदाई के लिए जनता ने चौराहों पर रोक रोक कर उन्हें विदाई दी।

इन मामलों के एक्सपर्ट हैं सुलखान सिंह
वरिष्ठ पत्रकार विनोद भारद्वाज ने बताया कि सुलखान सिंह वैसे तो अपराधियों के लिए काल हैं, लेकिन उनकी खासियत ये है, कि वे पारिवारिक मामलों के एक्सपर्ट हैं। आगरा में परिवार से जुड़़े कई मामले उनके द्वारा इतनी आसानी से सुलझाए गए, कि लोग उनके कायल हो गए। कई मामलों में तो वे सामाजिक दृष्टि से निर्णय लेते हैं।   

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned