BREAKING: आगरा की फातिमा चलाती थी जाली नोट का कारोबार, एनआईए ने दबोचा

Agra, Uttar Pradesh, India
BREAKING: आगरा की फातिमा चलाती थी जाली नोट का कारोबार, एनआईए ने दबोचा

सुलहकुल की नगरी में जाली नोटों का कारोबार चल रहा था।

आगरा। सुलहकुल की नगरी में जाली नोटों का कारोबार चल रहा था। नेशनल इवेस्टीगेशन एजेंसी और यूपी एटीएस ने गुरुवार को आगरा में कार्रवाई की, तो हड़कंप मच गया। टीम ने जाली नोटों के मास्टर माइंड की महिला साथी को गिरफ्तार किया है। सुरक्षा एजेंसियां महिला से पूछताछ कर रही हैं। आगरा में जाली नोटों की इतनी बड़ी खपत होती रही और खुफिया विभाग को इसकी भनक भी नहीं लगी। इस बात से सभी हैरान हैं। जाली नोट कहां खपाए जाते थे अभी ये जांच का विषय हैं। टीमें इसकी जांच करने में जुटी हैं। 

फातिमा को किया गिरफ्तार
एनआईए और यूपी एटीएस की टीम ने गुरुवार को थाना एत्माउद्दौला के सुशील नगर में छापामार कार्रवाई की। यहां से टीम ने 42 वर्षीय फातिमा नामक महिला को गिरफ्तार किया। फातिमा बांग्लादेश की रहने वाली है और वह नकली नोटों के मास्टर माइंड अब्दुल सलाम के लिए काम करती थी। मास्टर माइंड अब्दुल सलाम यहां एक महीने तक फातिमा के घर पर रुका था और यहां जाली नोटों को बाजार में चलाया था, इसके बाद से फातिमा जाली नोट के रैकेट से जुड़ गई।

नोटबंदी में खपाए थे जाली नोट
सूत्र बताते हैं कि अब्दुल सलाम आगरा में करीब एक महीने तक रहा था। उसने नोटबंदी के समय आगरा में जमकर जाली नोट चलाए थे। इस काम में उसने यहां फातिमा की मदद ली थी।
23 दिसंबर को इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचते ही एनआईए के अधिकारियों ने उसे अपने कब्जे में ले लिया था। वह बड़े जाली नोटों की तस्करी में संलिप्त था। उसने 9.75 लाख रुपये मूल्य के जाली भारतीय नोट तस्करी के जरिये भारत भेजे थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned