'राजा' ने सपा को दिलाई थी जीत, अब हराने की चुनौती

Abhishek Saxena

Publish: Jan, 14 2017 03:11:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
'राजा' ने सपा को दिलाई थी जीत, अब हराने की चुनौती

राजनीति में सफर शुरू करने के बाद 'राजा' ने पीछे मुड़़कर नहीं देखा। 

आगरा। राजनीति में सफर शुरू करने के बाद 'राजा' ने पीछे मुड़़कर नहीं देखा। भाजपा के साथ राजनीतिक सफर की शुरूआत करने वाले राजा महेंद्र ​अरिदमन सिंह ने बाह विधानसभा सीट पर अपना परचम बुलंद रखा है। यहां से छह बार के विधायक रहे राजा को हराने के लिए सभी दलों ने कोशिशें की,लेकिन एक हार अवसाद के तौर पर उन्हें मिली। छह बार के विधायक रहे राजा अब परिवार में लौट रहे हैं, तो एक बार फिर से भाजपा को इस सीट पर उम्मीद दिखने लगी है।

कल्याण मंत्रिमंडल से हुई शुरूआत
राजा महेंद्र अरिदमन सिंह 1996 में कल्याण सिंह के मंत्रिमंडल में इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्री एवं एकीकरण मंत्री रहे। इसके बाद उन्हें 2001 में राजनाथ सिंह के मंत्रिमंडल में परिवहन मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया। साल 2002 में बीजेपी-बीएसपी के गठबंधन की सरकार बनीं, तो मायावती के मंत्रिमंडल में स्वास्थ्य मंत्रालय की बड़ी जिम्मेदारी उन्हें दी गई।

सपा में थे मंत्री
आगरा के सेंट जॉन्स कॉलेज, आगरा से एमकॉम अरिदमन सिंह वर्तमान सपा सरकार में पहले परिवहन मंत्री, बाद में स्टांप एवं पंजीयन विभाग में मंत्री रहे। अक्टूबर, 2015 को सपा सरकार ने उन्हें मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया था। इससे पहले वो बीजेपी सरकार में दो बार और एक बार बीजेपी-बीएसपी सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। 

पहली बार सपा से लड़े
2012 विधानसभा चुनावों में अखिलेश यादव की आंधी में सपा की ओर से इस सीट पर राजा अरिदमन सिंह ने बड़ी जीत दर्ज की थी। ये पहला मौका था जब सपा ने बाह सीट पर अपना खाता खोल था। राजा को 99 हजार 389 वोट मिले, जबकि बीएसपी उम्मीदवार मधुसूदन शर्मा 72 हजार 908 वोट ही पा सके। यहां एक दिलचस्प बात थी कि विधानसभा चुनाव 2007 में मधुसूदन शर्मा ने राजा अरिदमन सिंह को 4623 वोटों से हराया था।

ये रहा चुनावी इतिहास
विधानसभा चुनाव 2017 के बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने इस सीट से मधुसूदन शर्मा को प्रत्याशी बनाया है। अब बीजेपी का पैंतरा क्या होगा, ये अभी स्पष्ट नहीं हुआ है। इसस पहले 2002 में बीजेपी की ओर से राजा अरिदमन सिंह ने सपा के संतोष चौधरी को मात दी थी। राजा अरिदमन सिंह को 54 हजार 73 जबकि 28 हजार 66 वोट मिले थे। 1996 में बीजेपी की ओर से अरिदमन सिंह ने कांग्रेस के अमर चंद को हराया। विधानसभा चुनाव 1993 में अरिदमन सिंह जनता दल की ओर लड़े और कांग्रेस के अमर चंद शर्मा को उन्होंने हराया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned