#UPElection2017 लाल बत्ती भी न रोक सकी रानी के कदमों को

Amit Sharma

Publish: Jan, 14 2017 03:23:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
 #UPElection2017 लाल बत्ती भी न रोक सकी रानी के कदमों को

रानी पक्षालिका सिंह को कुछ माह पहले ही अखिलेश सरकार में लाल बत्ती दी गई थी।

आगरा। समाजवादी पार्टी की अन्तर्कलह का नतीजा कहें या भाजपा की लहर लेकिन मुलायम-अखिलेश को दोहरा झटका लगा है। सपा सरकार में मंत्री रहे राजा अरिदमन सिंह और उनकी पत्नी रानी पक्षालिका सिंह ने भाजपा का दामन थाम लिया है। सपा की तरफ से जारी हुई दोनों लिस्ट में रानी पक्षालिका सिंह और अरिदमन का नाम था। सपा द्वारा टिकट देने के बाद भी दोनों ने भाजपा में शामिल होना ही मुनासिब समझा।

रानी को दी थी लाल बत्ती
रानी पक्षालिका सिंह 2012 में समाजवादी पार्टी की तरफ से खेरागढ़ विधानसभा से चुनाव लड़ चुकी हैं। इस बार भी रानी पक्षालिक सिंह को सपा की तरफ से टिकट दिया गया था। राजा अरिदमन सिंह को बाह से प्रत्याशी बनाया गया था। वहीं रानी पक्षालिका सिंह को कुछ माह पहले ही मंत्री का दर्जा देकर लाल बत्ती दी गई थी। सपा का यह निर्णय़ राजा, रानी को रोकने की कोशिश माना गया, बावजूद इसके रानी के कदम नहीं रुके, उन्होंने भाजपा का दामन थाम ही लिया।

Pakshalika Singh
दिल्ली स्थित भाजपा कार्यालय पर भाजपा में शामिल होने के बाद रानी पक्षालिका सिंह।

अखिलेश के साथ ही ली थी मंत्रिपद की शपथ
सपा सरकार बनने के बाद बाह विधायक अरिदमन सिंह ने अखिलेश के साथ ही शपथ ली थी। उन्हें महत्वपूर्ण परिवहन मंत्रालय दिया गया, बाद में उनसे यह विभाग छीन लिया गया और स्टांप एवं पंजीयन मंत्रालय दिया गया। तीसरी साल आते-आते अरिदमन सिंह से यह विभाग भी छीन लिय़ा गय़ा। इसके बाद ही रानी को मंत्री का दर्जा दिया गया।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned