'राजा' के भाजपा में जाते ही सपा ने बदली रणनीति

Abhishek Saxena

Publish: Jan, 14 2017 05:22:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
'राजा' के भाजपा में जाते ही सपा ने बदली रणनीति

नामांकन दाखिल करने की शुरूआत आगरा जनपद में 17 जनवरी से हो जाएगी।

आगरा। नामांकन दाखिल करने की शुरूआत आगरा जनपद में 17 जनवरी से हो जाएगी। पहले चरण के चुनाव के लिए सपा में दंगल के बीच चुनावी तैयारियों का दौर चल रहा था। इसी बीच पार्टी के एक मात्र विधायक ने अपनी पत्नी सहित सपा छोड़ दी। अब सपा की दो सीटें खाली हो गई हैं। इन सीटों पर पार्टी का प्रत्याशी तभी तय होगा, जब सपा की रार सुलझेगी। इन दोनों सीटों पर मुलायम और अखिलेश के प्रत्याशियों का चुनाव जब भी किया जाएगा। जातिगत आंकड़ों को देखकर किया जाएगा। राजा के भाजपा में जाते ही सपा ने रणनीति बदल दी है। 

राजा के आगे ब्राह्मण 
बाह विधायक अब भगवा खेमे में पहुंच गए हैं। उनका पार्टी से टिकट दिया जाना तय माना जा रहा है। बाह विधानसभा सीट से वे छह बार के विधायक हैं। ऐसे में इस बार भी माना जा रहा है कि भाजपा से टिकट उन्हें मिलेगा। उनके सपा छोड़ने से ये सीट खाली हो गई है। अब सपाई लखनउ में हाईकमान के फैसले के इंतजार में हैं कि सुलह हो जाए और एक मात्र सीट जो उनके पास थी, उस पर कब्जे की जंग लड़ी जाए। सूत्र बताते हैं कि चाहे अखिलेश का खेमा हो या फिर मुलायम का इस सीट पर पार्टी ब्राह्मण प्रत्याशी को ही खड़ा करेगी। इसकी ठोस वजह है यहां का ब्राह्मण वोटर, जो प्रत्याशी की जीत हार में बड़ी भूमिका निभाता है।

रानी के सामने क्षत्रिय
रानी पक्षालिका सिंह भी अब भगवा रंग में रंग गई हैं। सपा की अखिलेश और मुलायम सिंह की सूची में उनका नाम खेरागढ़ से प्रत्याशी के तौर पर था। अंदरखाने से आ रही खबरों से ये संभावनाएं व्यक्त की जा रही हैं कि इस सीट से पार्टी क्षत्रिय प्रत्याशी को खड़ा करेगी। वैसे तो अभी पार्टी का नेतृत्व तय नहीं हैं, लेकिन अखिलेश और मुलायम दोनों के प्रत्याशी क्षत्रिय होंगे ये सूत्र स्पष्ट कर रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned