अवैध कब्जा हटाने पहुंची टीम को लौटना पड़ा वापस 

Agra, Uttar Pradesh, India
अवैध कब्जा हटाने पहुंची टीम को लौटना पड़ा वापस 

महिला ने दी अदालत में मामला चलने की दलील 

आगरा। तालाब से अवैध कब्जा हटाने पहुंची प्रशासनिक टीम को बैरंग लौटना पड़ा। मामला गंभीर हो गया। उसी दौरान एक महिला ने मिट्टी के तेल से भरा गैलन अपने उपर गिरा लिया। लाख समझाने के बाद भी लोग माने नहीं। यह मामला है कस्बा मिढाकुर का। सोमवार को एसडीएम सदर की अगुवाई में टीम पहुंची थी लेकिन वैरंग वापसी हुई। 

यह है मामला 


midhakur police team

तहसील सदर क्षेत्र में कस्बा मिढाकुर में स्थित एक तालाब को कूड़ा करकट डालकर पूरी तरह से पाट दिया गया है। जिसके चलते नालियों का पानी गलियों में भरा रहता है। इसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा कई बार तहसील दिवस व संबधित अधिकारियों से की गई थी। ग्रामीणों की शिकायत पर सोमवार को चार बजे एसडीएम सदर रजनीश मिश्र व क्षेत्राधिकारी अछनेरा भीम कुमार गौतम जेसीबी लेकर पहुंचे। जैसे ही जेसीबी ने तालाब को खोदना शुरू किया तभी एक महिला जेसीबी के आगे आकर खड़ी हो गई। महिला ने जेसीबी को तालाब खोदने से रोक दिया। एसओ मलपुरा ने महिला को काफी समझाने का प्रयास किया गया  लेकिन महिला अपनी जिद पर अड़ी रही। महिला ने मिट्टी के तेल से भरे गैलन को अपने उपर गिरा लिया जिससे मौके पर भगदड़ मच गई। 

अदालत में है मामला 

महिला ने बताया है कि उसका तालाब से सटा हुआ व दो विश्वा जमीन का पट्टा है जिसका मुकदमा अदालत में चल रहा है। लिहाजा उसकी जमीन से खुदाई नहीं होनी चाहिए। इस पर एसडीएम सदर ने तालाब की पैमाइश की तो लेखपाल ने कुल तीन विश्वा के बारे में बताया। लेकिन मौके पर रकवा लगभग छह विश्वा है। इस पर एसडीएम द्वारा तीन विश्वा तालाब की खुदाई कराए जाने के बारे में कहा तो इस पर ग्रामीण बिगड़ने लगे। ग्रामीणों का कहना है कि पूरी जमीन पहले से ही तालाब की है। जिस पर लाखन सिंह व उसकी पत्नी गीता द्वारा अवैध रूप से गोबर कूड़ा करकट डालकर कब्जा कर लिया गया है लिहाजा पूरे तालाब की खुदाई होनी चाहिए। बात न बनती देख टीम बैरंग लौट गई। टीम में बीडीओ बिचपुरी पारूल कटियार, एडीओ शैलेन्द्र सोलंकी, सचिव टी सी शर्मा, लेखपाल नाहर सिंह आर्य मौजूद थे। 


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned