कुपोषित बच्चे खोलेंगे आगंनबाड़ी केन्द्रों की पोल 

Dhirendra yadav

Publish: Nov, 29 2016 04:53:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
कुपोषित बच्चे खोलेंगे आगंनबाड़ी केन्द्रों की पोल 

आगंनबाड़ी केन्द्र पर 12 से 15 दिसम्बर तक वजन दिवस का आयोजन किया जाएगा। इस वजन दिवस में मानकों के अनुसार सामान्य, कुपोषित और अति कुपोषित बच्चों की श्रेणी का चिन्हांकन किया जाएगा।

आगरा। पांच वर्ष तक के बच्चों के पोषण का स्तर सुधाने के लिए अभियान शुरू किया जा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी नगेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि जिले के प्रत्येक आगंनबाड़ी केन्द्र पर 12 से 15 दिसम्बर तक वजन दिवस का आयोजन किया जाएगा। इस वजन दिवस में मानकों के अनुसार सामान्य, कुपोषित और अति कुपोषित बच्चों की श्रेणी का चिन्हांकन किया जाएगा। इसके साथ ही यह भी जानकारी मिल सकेगी, कि अभी तक आगंनबाड़ी केन्द्रों पर कितना काम किया गया है। 

तैयारियों को लेकर हुई बैठक
वजन दिवस की तैयारियों को लेकर मुख्य विकास अधिकारी नगेन्द्र प्रताप की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। बैठक में अभियान में लगाए जाने वाले समस्त कार्मियों, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सहायिका, आशा, ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी, प्रधानाध्यापक तथा सहायक अध्यापकों का प्रशिक्षण विकास खण्डवार  प्रशिक्षकों के माध्यम से किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस कार्य के लिए जनपद को 2 भागों में विभाजित किया गया है। सामान्य निर्वाचन प्रक्रिया की भांति वजन दिवस का आयोजन किया जाएगा, जिसमें प्रति 30 आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 1 सेक्टर प्रभारी तथा 3 आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 1 ग्रामसभा, वार्ड पर्यवेक्षक नियुक्त किये गये हैं। आंगनबाड़ी केन्द्र पर वजन लेने तथा पोषण स्तर के चिन्हांकन का कार्य आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा किया जाएगा। आशा, सहायिका एवं ग्राम प्रधान द्वारा बच्चों के मोविलाइजेशन का कार्य किया जाएगा।

बनाया गया कंट्रोल रूम
इस अभियान की सफलता को लेकर कार्यालय मुख्य विकास अधिकारी, विकास भवन संजय प्लेस में तृतीय तल पर कन्ट्रोल रूप स्थापित किया गया है, जिसका दूरभाष नम्बर 0562-2522306 है। वजन दिवस से सम्बन्धित कोई भी जानकारी कन्ट्रोल रूम पर ली जा सकती है। बैठक में वजन दिवस को सफल बनाए जाने के लिए रणनीति पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेन्द्र कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी दिनेश कुमार, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी विनय कुमार, डीपीआरओ धनंजय जायसवाल एवं विकास खण्डों के समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, क्षेत्रीय मुख्य सेविका आदि उपस्थित रहे।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned