विश्व एड्स दिवस पर लोगों को इस तरह किया जागरूक

Bhanu Pratap

Publish: Nov, 30 2016 11:03:00 (IST)

Agra, Uttar Pradesh, India
विश्व एड्स दिवस पर लोगों को इस तरह किया जागरूक

एड्स छूने या साथ रहने से नहीं होता। कुछ सावधानियां बरतने से एड्स से आसानी से बचा जा सकता है।

आगरा। विश्व एड्स दिवस की पूर्व संध्या पर ग्रामीण विकास संघर्ष समिति ने जनजागरुकता मार्च निकाला। मार्च के माध्यम से ग्रामीण विकास संघर्ष समिति ने एड्स के दुष्परिणाम और समाज में इस रोग के प्रति लोगों में फैली भ्रांतियों को दूर करने का प्रयास किया गया।


छूने से नहीं होता एड्स
कैंडल मार्च का नेतृत्व कर ग्रामीण विकास संघर्ष समिति के ब्रह्मानंद राजपूत ने लोगों को एड्स से बचाव और इसके प्रति समाज में फैली भ्रांतियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एड्स छूने या साथ रहने से नहीं होता। एड्स रोग भी संक्रमण से होता है। 


इन उपायों से बचें
एड्स से बचाव की जानकारी देते हुए ब्रह्मानंद राजपूत ने कहा कि कुछ सावधानियां बरतने से एड्स से आसानी से बचा जा सकता है। जैसे अपने साथी के साथ वफादार रहे, कंडोम का प्रयोग करें, सेविंग आदि करते समय नए ब्लेड का प्रयोग करे, अगर कभी ब्लड की जरूरत हो तो यह जरूर चेक कर लें कि चढ़ाया जा रहा ब्लड एड्स रोग से ग्रस्त रोगी तो नहीं है।


ये रहे उपस्थित
जनजागरूकता में मुख्य रूप से सुनील राजपूत, विष्णु मुखिया, उमेश राजपूत, जीतू राजपूत, निनुआ खान, चंद्रवीर राजपूत, हेमेंद्र सिंह, चौधरी अजय, पवन चौधरी, शिव बघेल, रामबाबू, प्रेमराज लोधी, राहुल खान, थानसिंह, बन्टी लोधी, सुनील लोधी, वीरेन्द्र राजपूत, छोटू लोधी आदि उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned