आई वॉच पर भेज सकेंगे अलर्ट

Mukesh Sharma

Publish: Apr, 14 2017 10:14:00 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
आई वॉच पर भेज सकेंगे अलर्ट

पश्चिम रेलवे की ओर से 'आई वॉचÓ एप का परीक्षण किया जा रहा है, जिससे आपात  स्थिति में एसओएस

अहमदाबाद।पश्चिम रेलवे की ओर से 'आई वॉचÓ एप का परीक्षण किया जा रहा है, जिससे आपात  स्थिति में एसओएस अलर्ट भेजे जा सकते हैं। रेलवे ने यह एप विशेष तौर पर महिला यात्रियों के लिए बनाया है, जिसे डाउनलोड कर वे उसमें अपने पसंदीदा छह नंबरों को फीड कर सकती हैं।


सफर करते समय यदि महिलाओं को कोई भी असुरक्षा महसूस हो तो वे एसओएस बटन को दबा सकती है और ऑडियो-वीडियो और महिला का लोकेशन आरपीएफ के कंट्रोल रूम पहुंच जाएगा। फिलहाल इस एप का इस्तेमाल मुंबई के सब अर्बन रेलवे में चर्चगेट और बोरीवली के बीच इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके अलावा रेलवे ने विश्व महिला दिवस पर भारतीय रेल में पहली बार महिला डिब्बों में टॉक-बैक प्रणाली की शुरूआत की गई। इसके चलते महिला यात्री आपात स्थिति में गार्ड से सम्पर्क कर सकती हैं।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी रविन्द्र भाकर ने कहा कि महिला यात्रियों की सुरक्षा रेलवे की प्राथमिकता है। जहां महिला डिब्बों में सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं तो आरपीएफ कर्मी की तैनाती भी की जाती है। महिला डिब्बों में यात्रा करने पुरुष यात्रियों को दंडित किया जाता है। इन डिब्बों में अवैध रुप से यात्रा करने के 16,012 मामले दर्ज किए गए। दोषी व्यक्तियों से तीन लाख 30 हजार 600 रु. जुर्माना वसूला गया। वहीं 14 व्यक्तियों को जेल भेजा गया।  

भाकर ने कहा कि पश्चिम रेलवे ने मुंबई उपनगरीय खंड पर विश्व की पहली महिला विशेष ट्रेन चलाई।  वर्ष 2016-17 के दौरान आरपीएफ ने यात्री संबंधी अपराधों के 225 मामलों की जांच की तथा अपराधियों को संबंधित जीआरपी को सौंप दिया गया। आरपीएफ ने जहरखुरानी के दो मामले पकड़े। बाद में अपराधियों को जीआरपी को सौंप दिया गया। इसी प्रकार वर्ष 2016-17 के दौरान वर्जित वस्तुएं लेने के 261 मामले  सामने आए, जिसमें एक करोड़ 07 लाख 96 हजार 809 का माल जब्त जब्त किए गए तथा 195 बाहरी व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं हेल्पलाइन 182 तथा सहयात्रियों से प्राप्त सूचनाओं से 1.23 करोड़ रुपए के यात्रियों के छूट माल-सामान  यात्रियों को लौटाया गया।

पश्चिम रेलवे के स्टेशन परिसरों या ट्रेनों से मिले 667 बच्चों को उनके माता-पिता तथा चाइल्ड हेल्पलाइन को सौंपा गया।  रेल टिकटों के क्रय विक्रय के अवैध कारोबार के जुर्म में 588 मामले दर्ज किए गए, जिसमें 700 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया तथा 1.28 करोड़ रुपए की टिकटें जब्त की गईं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned