अब 'मेक इन गुजरात': रुपाणी

Shankar Sharma

Publish: Dec, 01 2016 11:46:00 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
अब 'मेक इन गुजरात': रुपाणी

मेक इन इंडिया के सपने को साकार करने के लिए मेक इन गुजरात को प्रोत्साहन दिया जाएगा। बड़े उद्योगों के साथ-साथ सुक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों के संतुुलित विकास गजुरात की विशेषता है

वडोदरा. मेक इन इंडिया के सपने को साकार करने के लिए मेक इन गुजरात को प्रोत्साहन दिया जाएगा। बड़े उद्योगों के साथ-साथ सुक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों के संतुुलित विकास गजुरात की विशेषता है। पूरे विश्व की नजर आज गुजरात पर है।

यह बात गुरुवार को गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कही। वे वडेादराके नवलखी मैदान पर वडोदरा चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (वीसीसीआई) की ओर से आयोजित ग्लोबल ट्रेड शो-वाइब्रेंट वीसीसीआई के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि गुजरात सरकार आगामी दिवसों में रक्षा व एयरोस्पेस संबंधी उद्योगों के लिए नीति बनाएगी। इसमें दोनों क्षेत्रों में एमएसएमई की सहभागीदारी सुनिश्चित होगी। इसके अलावा जीआईडीसी को बढ़ावा देने के लिए राज्य के हजारों हेक्टेयर जमीन पर नई वर्टिकल जीआईडीसी बनाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि एमएसएमई क्षेत्र में राज्य में एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार मिल रहा है।
                     

बड़े उद्योगों से ज्यादा एमएसएमई क्षेत्र में रोजगार मिलता है। इसलिए सुक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योगों पर फोकस कर विकास किया जाना चाहिए।

वित्त मंत्री जेटली आएंगे

सीएम रुपाणी ने बताया कि वाइब्रेंट गुजरात सम्मेलन में एसएसएमई के विकास व जीएसटी अमलीकरण में मागर्दर्शन को लेकर विशेष परिसंवाद का आयोजन किया गया है। इसमें वित्त मंत्री अरुण जेटली आएंगे। वाइब्रेंट गुजरात में 110 देशों के प्रतिनिधिमंडल गुजरात में निवेश को लेकर चर्चा करेंगे। सम्मलेन में अमरीका, ब्रिटेन, जापान सहित 12 देश साझीदार के रूप में भाग ले रहे हैं। रुपाणी ने कैशलेस अर्थव्यवस्था को व्यापक बनाए जाने में योगदान देने के लिए वीसीसीआई की सराहना की।

एमएसएमई में गुजरात अव्वल: चौधरी
समारोह में केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग राज्य मंत्री हरिभाई चौधरी ने कहा कि एमएसएमई क्षेत्र में गुजरात देश में नंबर वन है। यहां राज्य में एमएसएमई के106 कलस्टर है। देश का 45 फीसदी निर्यात इन उद्योगों से किया जा रहा है।

यह सेक्टर देश में सबसे ज्यादा 14 करोड़ रोजगार दे रहा है। उन्होंने राज्य सरकार से कहा कि राज्य के तटीय इलाके में कॉयर (नारियल) इंडस्ट्रीज प्रोजेक्ट आरंभ किया जाता है तो केन्द्र इसमें मदद करेगा। इस अवसर पर एसएसआईसी के सीएमडी रवेन्द्रनाथ ने कहा कि केन्द्र सरकार एमएसएमई का डाटा बैंक तैयार कर रही है। इसमें छोटे उद्योगपति अपना पंजीकरण करा सकते हैं। एमएसएमई के राजकोट स्थित सेन्टर को अपग्रेड किया जाएगा वहीं वडोदरा में एमएसएमई सेन्टर कार्यरत होगा।



कैशलेस अभियान पर हस्ताक्षर
विमुद्रीकरण के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कैशलेस अभियान पर जोर देने के लिए वडोदरा में वीसीसीआई की ओर से पांच दिवसीय ग्लोबल ट्रेड शो में हस्ताक्षर अभियान आरंभ किया गया है। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने भी इस अभियान में हिस्सा लिया। वीसीसीआई के अध्यक्ष नीलेश शुक्ला ने कहा कि यहां पर आने वाले लोगों को इसके लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned