आईआईएम-ए बढ़ाएगा पीजीपीएक्स की सीटें

Mukesh Sharma

Publish: Mar, 20 2017 09:24:00 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
आईआईएम-ए बढ़ाएगा पीजीपीएक्स की सीटें

भारतीय प्रबंध संस्थान (आईआईएम-ए) अपने एक वर्षीय आवासीय पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट फोर

अहमदाबाद।भारतीय प्रबंध संस्थान (आईआईएम-ए) अपने एक वर्षीय आवासीय पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट फोर एक्जीक्यूटिव्स (पीजीपीएक्स) की सीटें बढ़ाने जा रहा है। संस्थान की ओर से मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमआचआरडी) को सीट वृद्धि का प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है। बताया गया है कि प्रस्ताव को मंंत्रालय की ओर से हरी झंड़ी भी मिल गई है।

आईआईएम-ए के निदेशक प्रो.आशीष नंदा ने बताया कि संस्थान अपने पीजीपीएक्स कोर्स की सीटें बढ़ाने जा रहा है। मौजूदा एक सेक्शन को बढ़ाकर दो सेक्शन किए जाएंगे। अभी एक सेक्शन में 80 सीटें हैं। इनकी जगह अब 60-60 सीट के दो सेक्शन बनाए जाएंगे। इससे पीजीपीएक्स की मौजूदा सीटें 80 से बढ़कर 120 हो जाएंगीं। करीब 40 सीटों का इजाफा किया जाएगा।

आईआईएम-ए के अन्नय अधिकृत सूत्रों का कहना है कि सीट वृद्धि इसी शैक्षणिक वर्ष 2017-18 से प्रभावी होगी। यह एक वर्षीय आवासीय प्रोग्राम है। स्नातक डिग्री धारक और कार्य अनुभव के साथ प्रवेश के लिए जीमेट के स्कोर को भी ध्यान में लिया जाता है।

फिलहाल नहीं बढ़ेंगीं पीजीपी की सीटें

नंदा ने बताया कि संस्थान की दो वर्षीय पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट (पीजीपी) में सीटें फिलहाल नहीं बढ़ेंगीं।


ई-पीजीपी में 150 सीटें

अहमदाबाद. भारतीय प्रबंध संस्थान-अहमदाबाद (आईआईएम-ए) में जून-2017 से वर्किंग एक्जीक्यूटिव्स के लिए शुरू होने जा रहे दो वर्षीय ई-पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट (ई-पीजीपी) में 150 सीटें होंगीं। ऑनलाइन एमबीए कराने वाले संस्थान के इस पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 31 मार्च तक आवेदन किया जा सकता है। एक व दो अप्रेल को आईआईएम-ए एडमीशन टेस्ट (आईएटी) लिया जाएगा।

आईआईएम-ए निदेशक प्रो.आशीष नंदा ने बताया कि पहली बार ह्यूज ग्लोबल एजूकेशन कंपनी के साथ मिलकर ई-पीजीपी कोर्स शुरू करने जा रहे हैं। इसमें प्रवेश पाने के मानकों में कोई समझौता नहीं किया जाएगा। साथ ही शैक्षणिक गुणवत्ता भी प्रभावित ना हो इसके लिए पहले वर्ष 150 सीटें ही रखी गई हैं।

किसी भी संकाय में 55 प्रतिशत के साथ स्नातक करने वाले और तीन साल के वर्क एक्सपीरियंस वाले वर्किंग एक्जीक्यूटिव व एन्टरप्रिन्योर आवेदन कर सकते हैं। प्रवेश पाने के लिए कॉमन एडमीशन टेस्ट (कैट), जीमेट या फिर इस कोर्स के लिए विशेष रूप से तैयार किया गया आईआईएम-ए एडमीशन टेस्ट (आईएटी) को पास करना होगा।
पहली बार आईआईएम डिस्टेंस मॉड में दो वर्षीय ई-पीजीपी कोर्स शुरू करने जा रहा है। इसमें 800 घंटे की क्लासरूम टीचिंग दी जाएगी। इस कोर्स को तीन साल में पूरा किया जा सकेगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned