प्रदेश में हड़ताल पर उतरीं आंगनवाड़ी एवं आशा वर्कर

Mukesh Sharma

Publish: Feb, 16 2017 11:03:00 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
प्रदेश में हड़ताल पर उतरीं आंगनवाड़ी एवं आशा वर्कर

प्रदेश में विभिन्न नागरिक सुविधा सेवा प्रदाता आंगनवाड़ी एवं आशा वर्कर महिलाएं गुरुवार से हड़ताल पर उतर गईं।

अहमदाबाद।प्रदेश में विभिन्न नागरिक सुविधा सेवा प्रदाता आंगनवाड़ी एवं आशा वर्कर महिलाएं गुरुवार से हड़ताल पर उतर गईं। आन्दोलनकारी महिलाओं ने जिलावार धरना, प्रदर्शन एवं सभाओं के जरिए वेतन बढ़ोतरी एवं नौकरी में स्थायी किए जाने को लेकर आवाज उठाई।

प्रदेश में राज्य सरकार, केन्द्र सरकार एवं पंचायत, निकाय प्रशासनों की विभिन्न नागरिक कल्याण योजनाओं में सेवाएं देने वाली लगभग डेढ़ लाख आंगनवाड़ी  कार्यकर्ता एवं आशा वर्कर कर्मियों के मानद वेतन में करीब  छह सालों  से कोई बढ़ोतरी नहीं की गई। इसे लेकर वे साल दर साल मांग उठाते रहे हैं। इसे लेकर इन महिला कर्मियों ने गत रविवार को अहमदाबाद में रैली एवं सभा के जरिए अपनी मांगे उठाईं। इस मौके पर चेतावनी भी दी थी कि इसके बावजूद प्रशासन की ओर से कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया तो हड़ताल आंदोलन का रास्ता अपना जाएगा। उनकी चेतावनी का कोई असर न होने पर गुरुवार को अहमदाबाद, सूरत, डांग, राजकोट, बोटाद, सुरेन्द्रनगर, अमरेली, भरुच, वलसाड़, वड़ोदरा, भावनगर, अरवल्ली, दाहोद, जामनगर, द्बारका,नर्मदा, तापी, नवसारी, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, महिसागर, पोरबन्दर आदि जिलों आंगनवाड़ी, आशावर्कर हड़ताल पर उतर गए। आंदोलनकारी महिलाओं ने तहसील, जिला कलक्टर, कार्यालयों के समक्ष धरना-प्रदर्शन करके अपनी मांगे बुलंद कीं।

तीन दिनों तक कामकाज बंद रखने की घोषणा

इस सन्दर्भ में आन्दोलन की अगुवाई करने वाले गुजरात  आंगनवाड़ी कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष अरुण मेहता एवं गुजरात आशा हेल्थ वर्कर यूनियन के सचिव अशोक सोमपुरा ने कहा कि  प्रदेश में सरकारी,अर्धसरकारी प्रशासनों के अधीनस्थ मतदाता सूची, पोलियो टीकाकरण, विधवा सहायता सर्वेक्षण, कृषि मेला, गरीब कल्याण मेला आदि लगभग 42 विभागों की नागरिक सुविधाओं की सेवाएं देने वाली इन महिला कर्मियों के मानद वेतन में वर्ष 2011 से कोई बढ़ोतरी नहीं की गई।

 इससे दिनों दिन आसमान छू रही मंहगाई के दौर में अस्थायी कर्मचारी समान आंगनवाड़ी महिलाओं कर्मियों को 4750 रुपए, फेसीलेटर को चार हजार रुपए, हेल्पर को 2400 एवं आशा वर्कर को सिर्फ 1000 रुपए के मासिक मानद वेतन पर काम करना पड़ रहा है। इस सन्दर्भ में केन्द्र व राज्य सरकार के समक्ष कई बार समस्या प्रस्तुत की गई, किन्तु सिर्फ आश्वासन ही हाथ लगा। इससे प्रदेश के कई जिलों में हड़ताल शुरू की गई है। आगामी शनिवार तक चलने वाली हड़ताल में प्रदेश के अन्य जिलों की आंगनवाड़ी एवं आशा वर्कर भी जुड़ेंगे। उसके बाद 21 फरवरी को विधानसभा में बजट पेश करने के मौके पर गांधीनगर में संगठन के पदाधिकारियों की बैठक करके आगे के आन्दोलनात्मक कार्यक्रम निर्धारित किए जाएंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned