हादसों को न्यौता देते भटकते मवेशी

Mukesh Sharma

Publish: Jul, 17 2017 08:16:00 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
हादसों को न्यौता देते भटकते मवेशी

बारिश का मौसम शुरू होते ही सड़कों पर मवेशियों का डेरा लगने लगा है। चाहे दिन हो या रात बारिश में सूखी

अहमदाबाद।बारिश का मौसम शुरू होते ही सड़कों पर मवेशियों का डेरा लगने लगा है। चाहे दिन हो या रात बारिश में सूखी जमीन की तलाश में मवेशी सड़कों पर आ जाते हैं जो वाहन चालकों के लिए घातक बन रहे हैं। ये मवेशी हादसों को न्यौता दे रहे हैं।

बारिश होते ही चाहे सड़कें हों या फिर गली-मोहल्ले हर जगह पानी जमा हो जाता है जिससे मिट्टी में गीलापन आ जाता है। इसके चलते सूखी जमीन की तलाश में मवेशी सड़कों पर भी अड्डा बना रहे हैं। चाहे किसी भी सड़क से निकलो मवेशी टहलते ही नजर आएंगे। शाम ढलते सड़कों पर इन मवेशियों का जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है। चाहे जितनी भी व्हीसल बजाओ मवेशी सड़क से नहीं हटते। सड़कों पर विशेष तौर पर गायें नजर आती हैं।

कुछ जगहों पर तो झुंड में यह बैठी दिखाई देती हैं, जिससे ऐसा लगता है कि इन गायों का कोई भी देखभाल करनेवाला नहीं है। पशु पालनेवाले गायों का दूध निकालने के बाद उनको खदेड़ देते हैं। विशेष तौर पर मवेशियों का यह जमावड़ा सरसपुर, बापूनगर, निकोल, गोमतीपुर, चांदखेड़ा, वेजलपुर, घाटलोडिया, हाटकेश्वर समेत बाहरी इलाकों की सड़कों पर नजर आता है। इनका शिकार दुपहिया वाहन चालक ज्यादा बन जाते हैं।

पशुपालकों पर हो सख्ती

नरोडा में नंदी बंगलोज में रहनेवाले गोपालसिंह सेंगर बताते हैं कि नरोडा-नारोल हाइवे, सरदार चौक, कृष्णनगर क्षेत्र में सड़कों पर काफी मवेशी नजर आते हैं। विशेष तौर पर शाम को। दिन में तो महानगरपालिका की कार्रवाई के भय मवेशियों को बांधकर रखते हैं, लेकिन शाम को दूध निकालने के बाद उनको छोड़ देते हैं। सड़कों पर कई बार निकलना तक मुश्किल हो जाता है। बच्चे भी इन मवेशियों की चपेट में आ जाते हैं।

ऐसे में महानगरपालिका को चाहिए कि मवेशी राज पर लगाम लगाने के लिए रात में भी गश्त बढ़ाए और पशुपालकों के खिलाफ कार्रवाई करे। बापूनगर में रहनेवाले प्रकाशसिंह राजपूत ने बताते हैं कि कई बार जब मवेशी या गायें झगड़ते हैं तो वाहनों से टकरा जाते हैं जो हादसों का कारण बन जाता है। बापूनगर निवासी योगेन्द्रसिंह चौहान बताते हैं कि मवेशी सड़कों पर भटकते नजर आते हैं, जिससे वाहन चालक हादसे का शिकार हो जाते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned