फैक्ट्री जाने से पहले थाने पहुंचे 25 बच्चे, ठेकेदार समेत तीन हिरासत में

Aligarh, Uttar Pradesh, India
फैक्ट्री जाने से पहले थाने पहुंचे 25 बच्चे, ठेकेदार समेत तीन हिरासत में

बाल मजदूरी का मामला सामने आने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

अलीगढ़। ऑटो में भरकर अलीगढ़ की ताला फ़ैक्टरियों में मजदूरी करने के लिए 25 नाबालिग बच्चों को ले जा रहे ठेकेदार समेत तीन व्यक्तियों को पकड़कर पराविधिक स्वयं सेवकों ने पुलिस के हवाले कर दिया। मामले की जांच में श्रम विभाग भी जुट गया है। इतनी बड़ी संख्या में बाल मजदूरी का मामला सामने आने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

ऑटो में सवार थे सभी बच्चे
गुरुवार सुबह को सुनील चौधरी और उनकी शिक्षिका पत्नी अर्चना कोचिंग जा रहे थे। बन्नादेवी इलाके में उनकी नजर दो ऑटो रिक्शा पर गई। इनमें आठ से 14 वर्ष आयु के 25 बच्चे सवार थे। बच्चों ने हाथों से टिफिन पकड़ रखे थे। शक होने पर सारसौल पर दोनों ऑटो रुकवा लिए गए और सूचना एसपी सिटी और श्रम विभाग को दे दी। मौके पर बन्नादेवी पुलिस पहुंच गई।

ठेकेदार समेत तीन हिरासत में
पूछताछ में पता चला कि ये बच्चे सत्यम प्रधान की फैक्ट्री में काम करते हैं। इन्हें लाने और ले जाने की जिम्मेदारी टैंपो चालक अनीस निवासी शाह जमाल, ठेकेदार सलीम और महेश की है। तीनों लोगों को थाने लाया गया। श्रम विभाग से विजय सिंह, शैलेंद्र सिंह भी थाने आ गए। पीएलवी उमेश चौधरी, अशोक चौधरी, निधि शर्मा, शाजिया सिद्दीकी आदि भी पहुंच गए। शिक्षिका ने इस संबंध में तहरीर दी है। इंस्पेक्टर के मुताबिक तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है। वहीं बच्चों को उनके घर भेज दिया गया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned