अबकी बार कल्याण का मुकाबला संघ से! पुत्रवधू की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

Amit Sharma

Publish: Oct, 19 2016 07:15:00 (IST)

Aligarh, Uttar Pradesh, India
अबकी बार कल्याण का मुकाबला संघ से! पुत्रवधू की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व मौजूदा राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की पुत्रवधू की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं।

अलीगढ़। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याणसिंह की पुत्रवधू प्रेमलता वर्मा की जगह भाजपा से संघ प्रचारक रहे ऋषिपाल सिंह ने भाजपा से अतरौली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए टिकट मांगा है। अगर टिकट बंटवारे मे संघ की दखलअंदाजी रही तो कल्याण परिवार के लिए मुसीबतें बढ़ सकती हैं।   

अभी तक कुल 73 दावेदार
भाजपा से टिकट के दावेदारों की फेहरिस्त लगातार बढ़ती जा रही है। जिले की सातों विधानसभा क्षेत्रों से अभी तक कुल 73 दावेदार हैं। सबसे अधिक शहर व कोल विधानसभा क्षेत्र से हैं। इनमें एक दर्जन के करीब बाहरी भी हैं। जातीय गुणा-गणित में बाहरी दावेदारों को भी मैदान में उतारे जाने की संभावना जताई जा रही है। वहीं, आरएसएस के पुराने कार्यकर्ता व भाजपाई बाहरी व अभी हाल ही में प्रगट हुए दावेदारों को स्वीकार करने के मूड़ में कतई नहीं हैं।

Rishipal Singh
ऋषिपाल सिंह, भाजपा नेता।

टिकट पाने के लिए बहा रहे पसीना
टिकट पाने के लिए कार्यकता दिन रात एक कर पसीना बहा रहे हैं, लेकिन अंदरखाने चर्चा है कि आरएसएस व भाजपा के पुराने कार्यकर्ता बाहरी दावेदारों के आवेदन करने से खफा हैं। उनका कहना है कि जिस क्षेत्र का दावेदार है और वह मेहनत कर रहा है, तो उसे ही टिकट दिया जाना चाहिए, क्योंकि उसकी क्षेत्र व जनता में पकड़ रहती है। यदि क्षेत्रीय दावेदार चुनाव जीतता है, तो दो वर्ष बाद होने वाले लोकसभा चुनाव में आसानी होगी।

प्रेमलता और ऋषिपाल की दावेदारी

भाजपा के ब्रज प्रांत मीडिया प्रभारी डॉ राजीव अग्रवाल ने बताया कि अतरौली विधानसभा सीट से अभी तक पार्टी से चुनाव लड़ने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री कल्याणसिंह की पुत्र वधू प्रेमलता वर्मा और आरएसएस के प्रचारक रहे ऋषिपाल सिंह के नाम सामने आए हैं। दोनों नामों ने से किस पर आखिरी सहमति बने इसका फैसला पार्टी हाईकमान को करना है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned