संगमनगरी में 51 हजार पार्थिव शिवलिंगों का हुआ रूद्राभिषेक    

Allahabad, Uttar Pradesh, India
संगमनगरी में 51 हजार पार्थिव शिवलिंगों का हुआ रूद्राभिषेक    

शिवलिंग निर्माण व भष्माभिषेक करने से मोक्ष की प्राप्ति ...

इलाहाबाद. श्रावण मास में त्रिवेणी बांध स्थित राधाकृष्ण विजय हनुमान मंदिर में देवाधिदेव भोलेनाथ का भष्माभिषेक कर शिवभक्तों ने महा वरदान एवं शिवकृपा के लिये भव्य पूजन कर श्रद्धालु मनोकामना लेकर मंदिर परिसर में 51 हजार पार्थिव शिवलिंगों का निर्माण कर रूद्राभिषेक भष्म एवं चंदन से किया गया। 



इसके बाद भक्तों ने उनका विधि-विधान से संगम में विसर्जन किया। रूद्राभिषेक कार्यक्रम महामण्डलेश्वर राम विजय दास त्यागी के सानिध्य में वैदिक ब्राहमणों के वेठपाठ के साथ सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर महाशिवपुराण कथा का अमृतपान कराते हुए पं.आलोक जी ने कहा कि, पार्थिव शिवलिंग निर्माण व भष्माभिषेक से मनुष्य को सभी प्रकार के लौकिक और पारलौकिक सुख की प्राप्ति होती है। उन्होंने कहा कि यह अभिषेक मार्कण्डेय महाराज ने किया था, जिससे प्रसन्न होकर भगवान शिव ने मोक्ष प्रदान किया। पं.आलोक ने कहा कि सावन मास में जो व्यक्ति भगवान शिव की आराधना नहीं करता और दान पुण्य से वंचित रहता है। 




कार्यक्रम के संयोजक एवं नैतिक विकास शोध संस्थान के संस्थापक श्याम सूरत पाण्डेय ने कहा कि ब्रह्मा की तपस्थली संगम तट पर यह महानुष्ठान अनवरत जारी है। भक्तों को अपने कल्याण, विश्व कल्याण इस लोक एवं उस लोक में सुख प्राप्ति के लिए निश्चित रूप से पार्थिव शिवलिंग निर्माण करने के लिए श्री राधाकृष्ण धाम त्रिवेणी बांध पर आना चाहिए। यह अनंत पार्थिव शिवलिंग महायज्ञ अनवरत चलता रहेगा। आज के अभिषेक कार्यक्रम में इं.उमानाथ, अवध, संजयप्रकाश शुक्ला, फूलचन्द्र दुबे, श्याम सूरत पाण्डेय, प्रभाकर पाण्डेय, मधु चकहा, राजनाथ तिवारी, श्रवण दुबे, राधेश्याम मिश्रा, संजय बनकटा, पं.नागेश जी महाराज, बृजेश शास्त्री, क्षमा दुबे, सत्या तिवारी, पं.पवन कृष्ण शास्त्री, सोमप्रकाश मिश्रा, युवराज मिश्रा, अन्नू पाण्डेय, प्रिया तिवारी, प्रिया सिंह, खुशी, पूजा, आकांक्षा पाण्डेय आदि ने भाग लिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned