सुसाइड से पहले ये डिश बनाने की तैयारी में थी एक्ट्रेस, मां ने कहा-वो कौन है जिसके लिए दे दी जान 

Allahabad, Uttar Pradesh, India
  सुसाइड से पहले ये डिश बनाने की तैयारी में थी एक्ट्रेस, मां ने कहा-वो कौन है जिसके लिए दे दी जान 

वाट्सऐप और फेसबुक पर डाला था स्टेट्स, खिड़की पर मिला पिज्जा..पिता ने कहा मेरी बेटी हिम्मती थी, नहीं कर सकती सुसाइड

इलाहाबाद. संगम नगरी इलाहाबाद के मीरापुर निवासी भोजपुरी हीरोइन का सोमवार मुम्बई के अंधेरी वेस्ट स्थित परिमल सोसाइटी के फ्लैट में फांसी पर लटका हुआ शव मिला। जिसे पुलिस आत्महत्या मान रही है। वहीं अंजली के पिता का कहना है कि वह बहुत बहादुर लड़की थी। वो सुसाइड कभी कर ही नहीं सकती। 





actress anjali

अंजली श्रीवास्तव के मौत के बाद इलाहाबाद स्थित उनके घर में मातम छाया हुआ है। अंजली एक मध्यम वर्ग परिवार से थीं। मीरापुर में तंग गलियों में उनका घर है। अजंली घर में सबसे छोटी थी। घर में पिता प्रेम प्रकाश श्रीवास्तव, मां शीला श्रीवास्तव के अलावा बडी बहन दिव्या श्रीवास्तव, जूही श्रीवास्तव है। 



पिता प्रेम प्रकाश ने बताया कि अंजली काफी जिम्मेदार लड़की थी। वो शुरू से ही काफी होनहार थी। उसने खुद के दम पर मुकाम हासिल किया था। मैं ही नहीं मेरी रिश्तेदारी में भी कोई नहीं मान सकता कि उसने सुसाइड किया होगा। उन्होंने पुलिस से निश्पक्ष जांच की मांग की है। अगर उसने सुसाइड किया है तो उसकी कुछ तो वजह होगी। उसके पास कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। अगर उसने सुसाइड किया भी होगा तो किसी ने मजबूर किया होगा। आखिर वो शख्स कौन है। पुलिस जांच कर तत्काल कार्रवाई करे।


सिनेमा से था शुरू से रूझान

अंजली ग्रेजुएशन के साथ ही सिनेमा की ओर रूख कर ली। उनके पिता ने बताया कि उसे एक्टिंग करने का काफी शौक था। वो स्कूल में भी होने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेती थी। 2007 से वो सिनेमी की ओर बढ़ी। अंजली को शिव का जलवा एलबम से ब्रेक मिला। इसके बाद करीब 50 एलबम किए। एलबम के साथ भोजपुर फिल्मों में भी काम करना शुरू कर दिया। करीब दर्जनभर भोजपुरी फिल्मों मंें भी काम किया है। 


जिसमें कच्चे धागे, हमरा दारू ना मेहरारू चाहि, यह कईसन प्यार है सहित अन्य फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाया।  उनके और जीटीवी के साथ किसी कार्यक्रम को लेकर अनुबंध भी हुआ है। उन्होंने बताया कि 2011 में वो मुम्बई गई थी। वहां अपने मां के साथ रहती थी। घटना के बाद से ही घर में परिजन टीवी में चल रही खबरों पर निगाहें टिकाए हैं।



actress family




कल होगा दाह संस्कार

अंजली श्रीवास्तव का शव आज रात फ्लाईस से इलाहाबाद आएगा। कल अंजली का दाह संस्कार रसूलाबाद घाट पर किया जाएगा। अंजली की मौत से पूरे मातम छा गया है। उनके पिता, दो बहने व बडी मम्मी सहित अन्य परिजनों का रो कर बुरा हाल है। उन्होंने सोचा भी नहीं होगा जो लड़की सिनेमा की ओर इतनी तेजी से बढ़ रही है। उसका अचानक यह हाल होगा। 

दरवाजा खुला तो उड़ गए होश

दअसरल फरवरी में उनके बड़ी मां की बेटी की शादी थी। शादी के बाद पिछले महीने ही वो मुम्बई गईं थी। वहीं मां इलाहाबाद में ही थी। परिजनों के अनुसार शनिवार को उसकी मां से बातचीत हुई थी। उस दौरान उसने कोई भी बात नहीं बताई थी। इसके अगले दिन लगातार कई बार मां ने उसके पास फोन लगाया। लेकिन एक बार भी जवाब नहीं मिला। इसके बाद अंजली के परिजनों के फ्लैट के मालिक को फोन कर जानकारी दी। फ्लैट के मालिक ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। इसके बाद डुप्लीकेट चाभी से फ्लैट का दरवाजा खोला तो अंजली का शव पंखे में साडी के फंदे के साथ लटकी मिली। जिसकी जानकारी उनके परिजनों को दी गई। सूचना मिलते ही मां सोमवार को फ्लाईट से रवाना हुई। 


खाना बनाने की तैयारी कर रही थी अंजली

अंजली की मां के अनुसार जब रूम का दरवाजा खुला तो गैस चूल्हे पर उबले हुए अंडे मिले, इनका कहना है कि मेरी बेटी को सुसाइड करना होता तो वे अपने लिये अंडा करी बनाने की तैयारी क्यों करती। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बता दें कि, अंजली ने भोजपुरी फिल्म ह्यकच्चे धागेह्ण, ह्यदम होई जेकरा में ऊहे गाड़ी खूंटाह्ण, ह्यलहू के दो रंगह्ण, ह्यदिवानगी हद सेह्ण, केहू त दिल में बा, अब होई बगावत , ठोक देब, के साथ-साथ हिंदी फिल्म धानी का डीजी कैम में भी अपनी सशक्त अभिनय क्षमता से दर्शकों को मन मोह लिया था। 


देखें वीडियो









Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned