नेशनल ग्रीड से जुड़ने वाला देश का पहला संग्रहालय होगा इलाहाबाद संग्रहालय 

Allahabad, Uttar Pradesh, India
नेशनल ग्रीड से जुड़ने वाला देश का पहला संग्रहालय होगा इलाहाबाद संग्रहालय 

100 से 120 किलोवाट बिजली उत्पादन की तैयारी

इलाहाबाद. जिले का ऐतिहासिक इलाहाबाद संग्रहालय सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन कर नेशनल ग्रीड को अतिरिक्त बिजली सप्लाई करने वाला देश का पहला संग्रहालय होने जा रहा है। ऊर्जा मंत्रालय के सहयोग से सोलर पैनल लगाने का कार्य पूरा हो चुका है। सौर ग्रिड का उद्घाटन शनिवार को राज्यपाल राम नाईक करेंगे। 


इलाहाबाद संग्रहालय जल्द ही सोलर ऊर्जा से जगमगाता नजर आएगा। संग्रहालय में सौर पौनल लगाने का कार्य पिछले साल अक्टूबर से शुरू हुआ था। जिसे अब पूरा कर लिया गया है। केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय के सहयोग से संग्रहालय की छत पर सौर ऊर्जा के 220 पैनल लगाए गए हैं। संग्रहालय के निदेशक राजेश पुराहित ने बताया कि संस्कृति मंत्रालय के अधिनस्त कई इलाहाबाद विश्वविद्यालय सहित कई संस्थानों को ये अवसर दिया गया था।




जहां सौर ऊर्जा को नेशनल ग्रिड से जोड़ने को कहा गया था। इलाहाबाद संग्रहालय ने सबसे पहले इस कार्य को पूरा किया है। उन्होंने बताया कि यहां लगे पैनल से 100 से 120 किलो वाट बिजली का उत्पादन होगा। इसमें से 90 किलो वाट की बिजली संग्रहालय में खर्च होगी। शेष बची बिजली को नेशनल ग्रिड में सप्लाई कर दिया जाएगा। इससे नेशनल ग्रिड को देने वाला बिजली का खर्च बच जाएगा। साथ ही नेशनल ग्रिड के माध्यम से आम लोगों को इसकी सप्लाई की जा सकेगी। मालूम हो कि वर्तमान में संग्रहालय को 7.30 रूपये प्रति यूनीट के हिसाब से बिजली का बिल जमा करना पड़ता है। सोलर ऊर्जा शुरू होने से यह दर घट कर 5.40 रूपये प्रति यूनिट हो जाएगा। 

अन्य संग्रहालयों में भी लगाने की तैयारी
इलाहाबाद संग्रहालय में सौर ग्रिड का उद्घाटन कल राज्यपाल राम नाईक के द्वारा किया जाएगा। साथ ही संग्रहालय के नवीनतम वेबसाइट और मुख्यद्वार पर बने भव्य माॅडल रूम का भी उद्घाटन करेंगे। मालूम हो कि राज्यपाल ही संग्रहालय समिति के अध्यक्ष भी हैं। इलाहाबाद के अलावा इस तरह की सुविधा दिल्ली, कोलकाता और हैदराबाद संग्रहालय में भी शुरू होगा। संग्रहालय में ऊर्जा को लेकर यह पहल पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रख कर किया जा रहा है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned