अखाड़ों ने नोटबंदी का किया समर्थन, कहा- देशहित में है पीएम मोदी का फैसला 

Allahabad, Uttar Pradesh, India
अखाड़ों ने नोटबंदी का किया समर्थन, कहा- देशहित में है पीएम मोदी का फैसला 

लोगों की सुविधा के लिए अखाड़ों के कोष का फुटकर पैसा बैंक में होगा जमा 

इलाहाबाद. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी का मुद्दा छाया रहा। सभी अखाड़ों ने सर्व सम्मति से नोटबंदी का समर्थन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री देशहित में जो भी निर्णय लेंगे अखाड़ा परिषद् उसका समर्थन करेगा।


अखाड़ों ने प्रधानमंत्री को सुझाव जरूर दिया कि जिस परिवार में शादी हो या किसानों की सुविधा के लिए जरूरत के अनुसार धन की व्यवस्था की जाय, जिससे उनको परेशानी न हो। इस दौरान अखाड़ों ने निर्णय लिया कि उनके अखाड़ों के कोष में जो भी फुटकर हैं वह आम जनता की सुविधा के लिए तुरन्त बैंकों में जमा करें, जिससे लोगों को फुटकर मिल सके। 


अल्लापुर के श्री बाघम्बरी मठ में हुई बैठक में सभी अखाडे़ के प्रमुख संत-महात्माओं ने प्रयागराज में 2018-19 लगने वाले अर्ध कुम्भ मेला की तैयारियों पर चर्चा करते हुए प्रदेश सरकार से मांग की है कि इलाहाबाद और उसके आसपास के जिला प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, फैजाबाद, जौनपुर, मिर्जापुर, भदोही, चित्रकूट, बांदा, कौशाम्बी, फतेहपुर, कानपुर सहित अन्य जिलों से आने वाले सड़क मार्ग को चार से छह लेन किया जाये। जिससे लोगों को सुविधा हो। अखाड़ों ने केन्द्र व प्रदेश सरकार से मांग की है कि जिन अखाड़ों के पास जमीन है उनको स्थायी निर्माण के लिए बजट दिया जाये और जिनके पास नहीं है उनको जमीन के साथ बजट दिया जाये। जिससे देश के कोने-कोने से आने वाले संत-महात्माओं की सुविधा के लिए अर्धकुम्भ के पूर्व उनकी सुविधाएं हो जायें। यह भी कहा गया कि नमामि गंगे योजना में सभी अखाड़े के दो-दो संतों को सदस्य के रूप में शामिल किया जाये। 

बैठक में प्रस्ताव रखा गया कि कुम्भ एवं अर्ध कुम्भ मेले के दौरान जिन अखाड़ों को अभी तक सुविधा नहीं मिली, उनको सुविधाएं दी जायें। ऐेसे अखाड़ों में आह्वान, अग्नि, अटल और आनन्द अखाड़ा हैं, जबकि वैष्णव अखाड़े में तीन अखाड़़ों को जमीन सुविधा मिलती है, लेकिन 15 अखाड़ों को जमीन सुविधा नहीं मिलती। बैठक में अध्यक्ष श्रीमहंत नरेन्द्र गिरी, महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरी, महंत रामसेवक गिरी, महंत जमुनापुरी, आशीष गिरि, रवीन्द्र पुरी, प्रेम गिरी, शिवशंकर दास, राजेन्द्र दास सहित अन्य कई संत-महात्मा उपस्थित रहे। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned