सपा के मंंत्री विजय मिश्रा की कुर्सी खतरे में, जा सकती है विधायकी, हाईकोर्ट ने दिया दोबारा मतगणना का आदेश

Allahabad, Uttar Pradesh, India
सपा के मंंत्री विजय मिश्रा की कुर्सी खतरे में, जा सकती है विधायकी, हाईकोर्ट ने दिया दोबारा मतगणना का आदेश

2012 विधानसभा चुनाव में मतों की कम गिनती को लेकर बसपा प्रत्याशी ने दखिल की थी याचिका।

इलाहाबाद. गाजीपुर सदर विधानसभा के 2012 में पड़े डाक मतों की दोबारा मतगणना का इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आदेश जारी कर दिया है। यह आदेश हाईकोर्ट ने राज्यमंत्री एवं गाजीपुर से विधायक विजय कुमार मिश्र के खिलाफ तत्कालीन बसपा प्रत्याशी राज कुमार सिंह गौतम की याचिका पर सुनवाई के बाद दिया। मतपत्रों की गणना 16 जनवरी को इलाहाबाद हाईकोर्ट में की जाएगी। याचिका में 1030 डाक मतों की गणना न करने का आरोप लगाया गया है। याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने डाक मतपत्रों के चारों बैलेट बॉक्स पेश करने का निर्देश दिया है। याचिका पर अगली सुनवाई 21 नवम्बर को होगी। यह आदेश न्यायमूर्ति पंकज मित्तल ने डा. राज कुमार सिंह की याचिका पर दिया है। याचिका पर अधिवक्ता नरेंद्र कुमार पाण्डेय और विपक्षी अधिवक्ता के.आर.सिंह ने पक्ष रखा।




बता दें याचिका में गलत तरीके के डाक मत पत्र जारी करने और इन मतों की गिनती न करने का आरोप लगाया गया था। विधायक विजय कुमार मिश्रा ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी डॉ. राजकुमार सिंह गौतम से सिंह 241 वोटों के अंतर जीत हासिल की थी। पर आरोप है कि मतगणना के दौरान 1030 डाक मतों को नहीं गिना गया। पूर्व विधायक और तत्कालीन बसपा प्रत्याशी डॉ. रामकुमार सिंह गौतम ने हाईकोर्ट में चुनाव याचिका दाखिल की थी। इस याचिका को रद्द करने के लिये विजय मिश्रा ने भी याचिका दाखिल की थी पर उसे हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका भी दाखिल की पर वहां से भी कोई राहत नहीं मिली।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned