फाफामऊ सीट पर दिलचस्प मुकाबला, यह वर्ग हुआ एकजुट तो बीजेपी की बढ़ेगी मुसीबत

Allahabad, Uttar Pradesh, India
फाफामऊ सीट पर दिलचस्प मुकाबला, यह वर्ग हुआ एकजुट तो बीजेपी की बढ़ेगी मुसीबत

इस सीट पर टिकी इन प्रत्याशियों की निगाहें 

इलाहाबाद. हर परिसीमन के बाद क्षेत्र का नाम बदलने और प्रत्याशियों के पार्टी बदलने के मामले में प्रसिद्ध फाफामऊ सीट में इस बार भी पुराने खिलाड़ी नए निशानों पर जोर आजमाइश कर रहे हैं। अब तक केवल एक बार इस सीट पर खाता खोल सकी भाजपा ने अपना दल से हाथ मिलाकर पूर्व कांग्रेसी और सपाई को टिकट दिया। वहीं, बसपा ने पूर्व विधायक का टिकट काटकर पिछले चुनाव में निर्दलीय चुनाव लड़े मनोज पाण्डेय को देकर मैदान में उतारा है। दूसरी ओर सपा के टिकट पर मौजूदा विधायक और पूर्व मंत्री अंसार अहमद ताल ठोंक रहे हैं। सनद रहे कि अंसार ने इलाहाबाद में अपना दल का खाता खोला था।





कुल 3,51,300 मतदाताओं वाले इस सीट पर इस बार लड़ाई त्रिकोणीय बताई जा रही है। हालांकि निर्दल और अन्य पार्टियों के प्रत्याशी भी दमदारी से मैदान में डटे हैं। अपना दल से गठबंधन के बाद बीजेपी को इस सीट उम्मीद बंधी है वहीं, आर्थिक रूप से मजबूत बसपा प्रत्याशी मनोज पांडेय दूसरों पर भारी पड़ रहे हैं। बसपा ने इस सीट पर प्रत्याशी बदल कर मास्टर स्ट्रोक चला है। आंकड़ों के मुताबिक इस सीट पर सबसे अधिक मतदाता यादव बिरादरी के हैं। जिनकी संख्या करीब 62 हजार है। वहीं, दूसरे नंबर पर ब्राम्हण मतदाता हैं। इसमें अन्य सवर्ण जातियों को जोड़ दें तो आंकड़ा करीब 70 हजार तक पहुंचता है। दूसरी ओर, दलित मतदाताओं की आबादी लगभग 40 हजार है। वहीं, मुस्लिम मतदाताओं का आकड़ा करीब 30 हजार है। ओबीसी वर्ग में 28 हजार मौर्य, 40 हजार पटेल मतदाता हैं।





कौन किस वादे से मांग रहा वोट
सपा प्रत्याशी और मौजूदा विधायक अंसार अहमद जातिगत आंकड़ों और अल्पसंख्यक वोटरों के भरोसे चुनाव जीतने का दावा करते हैं। उनका कहना है कि पांच साल में बहुत काम हुए हैं। अंसार का दावा है कि कांग्रेस से गठबंधन के बाद वोटों का बंटवारा रुकेगा और जीत सुनिश्चित है। दूसरी ओर, बसपा से चुनाव लड़ रहे धनपति, दबंग प्रत्याशी मनोज पांडेय बसपा के काडर वोटरों के साथ ही स्वजातीय वोटों के अपने साथ होने का दावा करते हैं। वहीं, भाजपा के प्रत्याशी विक्रमाजीत मौर्य सबका साथ-सबका विकास के साथ मतदाओं को अपने पक्ष में मतदान करने का गणित लगाने में जुटे हैं। वहीं, राष्ट्रीय लोकदल से राम सजीवन और लोकदल से चन्द्रिका प्रसाद साहू, युवा विकास पार्टी से पवन त्रिपाठी, बहुजन अवाम पार्टी से रघुनाथ, आरपीआई (ए) से सतेन्द्र प्रसाद मौर्य, भारतीय संगम पार्टी से सुधा पटेल के अलावा अवनीश पाण्डेय, कमलेश कुमार और राजकुमार निर्दलीय मैदान मे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned