नवाबगंज हत्याकांड: पुलिस को मिली बड़ी सफलता, चार गिरफ्तार

Allahabad, Uttar Pradesh, India
 नवाबगंज हत्याकांड: पुलिस को मिली बड़ी सफलता, चार गिरफ्तार

24 अप्रैल 2017 की रात इलाहाबाद जिले के नवाबगंज थाना के जूड़पुर गांव में एक ही परिवार के चार लोगों की हुई थी हत्या

इलाहाबाद. जिले के नवाबगंज थाना क्षेत्र के जूड़ापुर गांव में हुई एक ही परिवार के चार सदस्यों की नृशंस हत्या व दुष्कर्म मामले वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने सोमवार को चार हत्यारों को गिरफ्तार किया। पुलिस टीम ने वारदात में प्रयुक्त औजार व दो बाइक और खून के धब्बे सहित कपड़ा बरामद किया है। मामले का खुलासा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आनन्द कुलकर्णी ने पत्रकारों से बताया कि सनसनीखेज वारदात का  मास्टर माइंड नीरज लखनपुर का रहने वाला है। वारदात मेें शामिल रहे प्रदीप कुमार निवासी लखनपुर कांदू, मोहित, सत्येन्द्र थाना क्षेत्र सोरांव के हैं।  





बता दें कि 24 अप्रैल 2017 की रात जूड़पुर गांव में दो लड़कियों व उनके माता-पिता की हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में गांव के ही पांच लोगों को नामजद किया गया। जिसमें पुलिस ने शिवबाबू यादव, भल्लू यादव, नरेन्द्र यादव, अजय यादव, नवीन यादव को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। लेकिन मामले में जांच चल रही थी, जेल भेजे गये आरोपियों का नार्को टेस्ट भी किया गया। जिसमें कोई पुष्टि नहीं हो सकी। इस मामले में घटना के बाद उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद सहित कई मंत्रियो ने भी दौरा किया किया था। मामले की जानकारी पर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिजन को लखनऊ बुला कर मुलाकात की थी । 





इस प्रकरण की विवेचना के दौरान एसटीएफ, अपराध विश्लेषण, क्राइम ब्रांच इलाहाबाद और स्थानीय पुलिस की टीमें गठित की गयी थी। वैज्ञानिक साक्ष्यों के तहत सर्विलांस के सहयोग से पूरे मामले का खुलासा किया गया। एसएसपी ने बताया कि वादी के बहन के साथ मुख्य आरोपी नीरज एक स्कूल में पढ़ता था। इसके साथ ही एक निजी कम्पनी बीएलआर जन कल्याण ट्रस्ट की एजेन्ट का काम उसकी बहन कर रही थी। वह 1250 रूपये लेकर गरीबो का फार्म भरवाकर साइकिल व सिलाई मशीन दिलवाती थी। अभियुक्त नीरज ने कविता के माध्यम से कई लोगों के फार्म भरवाए थे। उसने कई लोगों से पैसा भी जमा कराया था। 28 फरवरी को व 8 मार्च को सिलाई मशीन दिलाने का भरोसा दिया था। लेकिन उक्त कम्पनी को लेकर कविता व नीरज के बीच विवाद भी हो गया। कविता ने उसे अपमानित करने के लिए धमकी भी दी थी।






इसके बाद आरोपी ने बदला लेने के लिए एक योजना बनाई और वारदात की रात मोहित के घर शादी में पहुंचे। उक्त चारों आरोपियों ने एक स्कूल परिसर में बाइक खड़ी की। उसके घर में दाखिल होेने के लिए नीरज ने कविता के मोबाइल पर फोन किया और बाइक में तेल देने के लिए कहा, जिससे उसने दरवाजा खोल दिया। दरवाजा खुलते ही चारों उसके घर में घुसते ही मूसल उठाया और सोए हुए वादी के माता-पिता व एक बहन का कत्ल कर दिया। इस दौरान मोहित ने टोका भी यह क्या कर रहे है। लेकिन नीरज, प्रदीप, सत्येन्द्र ने मृतका से दुष्कर्म किया और उसकी बहन से दुष्कर्म करने के बाद चाकू से मार दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी आरोपियों ने कपड़े मोहित के घर मंे बदला, हालंाकि इस दौरान एक आरोपी का कपड़ा भी फट गया था। एसएसपी ने बताया कि एडीजी जोन ने इस खुलासे पर पूरी टीम को 15 हजार के इनाम की घोषण की है।  


देखें वीडियो-



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned