रामनाथ कोविंद ने 45 मिनट के भाषण में दलितों के लिये कही थी ये बात

Allahabad, Uttar Pradesh, India
रामनाथ कोविंद ने 45 मिनट के भाषण में दलितों के लिये कही थी ये बात

2002 में अनुसुचित जाति सम्मेलन में किया था शिरकत

इलाहाबाद. संगम नगरी इलाहाबाद से बीजेपी के राष्ट्रपति पद उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का गहरा रिश्ता देखने को मिला है। 2002 में उन्होंने अपने 45 मिनट के भाषण में सब का दिल जीत लिया था। इस दौरान बीजेपी को वंचित लोगों की पार्टी बता उससे जुड़ने के लिए प्रोत्साहित किया था।



यहां उन्होंने कई मुद्दों पर अपने विचार रखे थे। तत्कालिन बीजेपी के जिलाध्यक्ष नरेंद्र देव पांडेय बताते हैं कि 2002 की बात है। उस समय कोंविद बीजेपी के अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्ययक्ष थे। इलाहाबाद के पथरचट्टी मैदान में दोपहर दो बजे से अनुसूचित जाति मोर्चा का राष्ट्रीय सम्मेलन था। वो सुबह बाईरोड इलाहाबाद आए। यहां आकर उन्होंने सबसे पहले संगम स्नान कर पूजा पाठ किया। इसके बाद वो सम्मेलन में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने अपने कुशल वक्तव्य से सब का दिल जीत लिया था। बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष नरेंद्र देव पांडेय ने बताया कि जिस तरह से उन्होंने कई विषयों पर अपने विचार रखे उससे उनमें कुशव वक्ता की क्षवि साफ नजर आ रही थी। इस दौरान उन्होंने मौजूद अनुसूचित जाति के लोगों को बीजेपी से जड़ने के लिए कहा था। पांडेय ने जिस तरह से मैनें उन्हें देखा और समझा है, वो राष्ट्रपति बनने के लिए अच्छे उम्मीदवार हैं और वो अगले राष्ट्राध्यक्ष के रूप में भी नजर आएंगे।





दलितों को आगे बढ़ने का दिखाया मार्ग
भाषण प्रारंभ करने से पूर्व उन्होंने बाबा भीमराव आम्बेडकर के जीवन से अनुसूचित जाति के लोगों को प्रेरणा लेने की बात कही। साथ ही उनके सीखाए मार्ग पर चल खुद के साथ समाज को आगे बढ़ाने में अह्म भूमिका अदा करने की बात कही थी। पूर्व बीजेपी जिलाध्यक्ष नरेंद्र देव पांडेय ने बताया कि भाषण के दौरान उन्होंने समाज में वंचित लोगों के लिए कार्य करने की बात कही थी। उन्होंने कहा ये राष्ट्रीय सम्मेलन समाज के वंचित उन वंचित दलित लोगों के लिए हो रहा है, जिन्हें समाज में पूरा अधिकार नहीं मिला रहा है।




अटल बिहारी वाजपेयी की तारीफ की
संगम नगरी में अनु. जाति मोर्चा के सम्मेलन में उन्होंने तत्कालीन पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यों की जमकर सराहना की थी। उन्होंने वाजपेयी द्वारा नदियों को आपस में जोड़ने संबंध मे कहा था कि इससे बाढ प्रभावित क्षेत्रों को बचाने के साथ सूखाग्रस्त क्षेत्रों को पानी मिल सकेगा। वहीं गांवों को सड़कों से जड़ने की योजना की भी जमकर तारीफ की थी। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned