अगर ये सावधानी बरती होती तो दुर्घटना में इन दो दोस्तों की न होती मौत

Akanksha Singh

Publish: Feb, 17 2017 02:55:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
अगर ये सावधानी बरती होती तो दुर्घटना में इन दो दोस्तों की न होती मौत

अपने मौसेरे भाई की बारात से अपने दोस्त के साथ वापस लौट रहे 20 वर्षीय युवक की सडक दुर्घटना में मौत उस समय हो गई जब वह अपने घर से महज दो किलोमीटर दूरी पर था।

अम्बेडकर नगर। अपने मौसेरे भाई की बारात से अपने दोस्त के साथ वापस लौट रहे 20 वर्षीय युवक की सडक दुर्घटना में मौत उस समय हो गई जब वह अपने घर से महज दो किलोमीटर दूरी पर था। घायल अवस्था में दोस्त ने भी अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया और एक क्षण की चूक ने खुशियों को मातम में बदल दिया। मामला जिले के अलीगंज थाना क्षेत्र का है। इसी थाना क्षेत्र के शरीफपुर गाँव का निवासी 20 साल का अजीत वर्मा, अपने दोस्त आदित्य वर्मा के साथ अपनी मौसी के लड़के की बारात कोतवाली टांडा के सद्दो पुर गांव में गया था। रातभर शादी कार्यक्रम में शामिल होने के बाद ये दोनों दोस्त आज सुबह लगभग 7 बजे वापस अपने घर को लौट रहे थे। जब ये लोग टांडा से बरुआ जलाकी मार्ग पर आगे बढे तो सामने से आ रही एक ट्रक की चपेट में आ गए और गति तेज होने के कारण दोनों के सर और शरीर में गंभीर चोटें आ गई, जिसके कारण अजीत वर्मा की तो मौके पर ही मौत हो गई। 
               

लोगों के बताने के अनुसार और मौके पर दुर्घटना करने वाले ट्रक की स्थिति देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि ट्रक अपने बाए से काफी जगह छोड़कर दाहिनी तरफ कवर करके चल रहा था और मौके पर पहुंचे इन युवकों ने मोटर साइकिल की स्पीड अधिक होने के कारण संभाल नहीं पाए और सीधा ट्रक से टकरा गए। एक असावधानी इस दुर्घटना में और हुई है, दोनों युवक में से कोई भी हेलमेट नहीं लगाये थे, जिसके कारण सर में गंभीर चोट आने से ही दोनों की मौत हो गई है। मौके पर पहुंचकर अब हर व्यक्ति यही बात कर रहा है कि मोटरसाइकिल पर सवार यह दोनों युवक अगर हेलमेट लगाए होते और अपनी गति कम रखते तो शायद आज यह दुर्घटना न हुई होती।

पिता की पहले ही चुकी है मौत, गांव में मातम

शरीफपुर निवासी अजीत वर्मा कुल दो भाई हैं और यही अजीत ही अपने परिवार का सबसे तेज और सक्रीय व्यक्ति था। इसके पिता सोसायटी में नौकरी करते थे जो किन्ही कारणों से चार पांच साल पहले आत्महत्या कर लिया था। पिता की मृत्यु के बाद अजीत ही सारी जिम्मेदारी निभा रहा था और इसके चाचा भी मदद किया करते थे। खेती बारी के अलावा परिवार के आय का और कोई साधन भी नहीं है। अभी दोनों मृतकों की शादी भी नहीं हुई है और अचानक हुए इस हादसे से मृत्यु के बाद दोनों परिवार में जहां कोहराम मचा हुआ है, वहीं दोनों युवकों के गांव और आस पास शोक की लहर फ़ैल गई है। फिलहाल पुलिस ने मौके पर पहुंच कर पहले तो घायल युवक को अस्पताल भिजवाया, जिसकी रस्ते में ही मौत हो गई और बाद में दोनों मृतकों का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। ट्रक ड्राइवर मौके से ट्रक छोड़कर फरार हो गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned