एफबीआई चीफ ने कहा-रूस अमरीका के लिए बड़ा खतरा, हिलेरी ने उठाए सवाल

America
एफबीआई चीफ ने कहा-रूस अमरीका के लिए बड़ा खतरा, हिलेरी ने उठाए सवाल

अमेरिका और रूस के बीच टकराव और बढ़ गया है। एफबीआई डायरेक्‍टर जेम्स कोमी ने रूस को सबसे बड़ा खतरा करार दिया है। वहीं हेलरी क्लिंटन ने अपने हार के लिए एफबीआई और रूसी हैकर्स को ज़िम्मेदार ठहराया।

वॉशिगटन: अमेरिका और रूस के बीच टकराव और बढ़ गया है। एफबीआई डायरेक्‍टर जेम्स कोमी ने रूस को सबसे बड़ा खतरा करार दिया है। एफबीआई ने हाल ही में एक कमिटी की बैठक के दौरान इस बात पर गंभीर चर्चा हुई कि किस तरह रूस, अमेरिका के लिए एक बड़ा खतरा बनकर उभर रहा है।

साइबर क्राइम पर भी गंभीर चर्चा
एफबीआई निदेशक जेम्स कोमी ने कमेटी की बैठक में कहा है कि,रूस अमरीका की राष्ट्रीय सुरक्षा के सामने सबसे बड़ा खतरा पैदा करता है। रूस की तरफ से होने वाली साइबर क्राईम की गतिविधियों पर भी गंभीर चर्चा हुई। समिति के चेयरमैन चक ग्रेसली और सदस्य डायना फेनस्टेन ने रूसी साइबर गतिविधियों को लेकर चिंता जताई। सीमिति के दूसरे सदस्य सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने कोमी से पूछा कि क्या रूस साइबर अपराधियों को पनाह देता है? इस सवाल का जवाब कोमी ने कहा कि हां वह ऐसा कर रहा है। 

अमरीका सिखाएगा सबक
ग्राहम ने ये भी कहा कि रूस की इन गतिविधियो को तभी रोका जा सकता है जब उसे अमरीकी राजनीतिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप करने के लिए अच्छा सबक सिखाया जाए। ग्राहम की इस बात से कोमी ने सहमति जताते हुए यह बयान दिया कि रुसी पूरी दुनिया में ऐसा ही कर रहे हैं।  एफबीआई प्रमुख ने ये भी कहा कि राष्ट्रपति चुनाव कि दौरान रूस वास्तविक मतों की संख्या में बदलाव तो नहीं कर पाया लेकिन वह एक दिन ऐसा करने में सफल हो सकता है। कोमी ने कहा कि एफबीआई रूसी हैकरों के खिलाफ भी काम कर रहा है।

हिलेरी ने एफबीआई और रुसी हैकर्स को जिम्मेदार ठहराया
वहीं पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने पिछले साल हुए राष्ट्रपति चुनाव में अपनी हार के लिए एफबीआई, विकिलीक्स और रूसी हैकर्स को जिम्मेदार ठहराया है। हिलेरी ने न्यूयॉर्क में मौजूदा राजनीतिक मुद्दों पर च्वुमन फॉर वुमन इंटरनेशनल फोरमज् के दौरान एक दिए साक्षात्कार में कहा,  कि अगर चुनाव 27 अक्तूबर को होते तो, मैं आपकी राष्ट्रपति होती। लेकिन ऐसा नहीं हुआ, वह 28 अक्तूबर को हुए और उस दौरान काफी अजीबोगरीब चीजें चल रहीं थी। 

विकिलीक्स पर भी उठाए सवाल
उन्होंने कहा, वह एक परिपूर्ण अभियान नहीं था। उसमें ऐसा कुछ नहीं था। मैं जीतने की राह पर थी। लेकिन 28 अक्तूबर को जिम कॉमे के पत्र एवं विकिलीक्स के खुलासे ने उन लोगों के दिमाग में संदेह उत्पन्न किया जो मुझे वोट देने को इच्छुक थे, इसके बाद वह संशय में आ गए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned