उत्तर कोरिया की अमरीका ने शुरू की घेराबंदी, दूसरा जहाज भी भेजा

America
उत्तर कोरिया की अमरीका ने शुरू की घेराबंदी, दूसरा जहाज भी भेजा

एक के बाद एक परमाणु परीक्षण करने की वजह से अमरीका की आंख की किरकिरी बन चुके उत्तर कोरिया पर अमरीका ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अमरीकी नौसेना का दूसरा जहाज यूएसएस रोनाल्ड रीगन कोरियाई प्रायद्वीप की ओर बढ़ रहा है।

वॉशिंगटन. एक के बाद एक परमाणु परीक्षण करने की वजह से अमरीका की आंख की किरकिरी बन चुके उत्तर कोरिया पर अमरीका ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अमरीकी नौसेना का दूसरा जहाज यूएसएस रोनाल्ड रीगन कोरियाई प्रायद्वीप की ओर बढ़ रहा है। अमरीकी रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, कोरियाई प्रायद्वीप पहुंचने के बाद यूएसएस रोनाल्ड रीगन, यूएसएस कार्ल विंसन के साथ सैन्याभ्साय में शामिल होगा। रक्षा अधिकारियों ने गुरुवार को मीडिया से बताया कि जापान के योकोसुका में मरम्मत अवधि और समुद्री ट्रायल के पूरा होने के बाद यूएसएस रोनाल्ड रीगन मंगलवार को कोरियाई प्रायद्वीप के लिए रवाना हो गया है।

60 विमानों से लैस है अमरीकी नौसेना का यह युद्धपोत
रियर एडमिर चार्ल्स विलियम्स ने जारी बयान में कहा कि हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि रोनाल्ड रीगन और बाकी के स्ट्राइक समूह समेकित हों। यूएसएस रोनाल्ड रीगन के क्षेत्र में पहुंचने पर विमान सैन्याभ्साय करेगा, लेकिन इसका ध्यान मुख्य रूप से सुरक्षित लॉन्च पर होगा। अमरीकी नौसेना के मुताबिक,1,092 फुट लंबे रीगन में चालक दल के 4,539 सदस्य हैं और इसमें 60 विमान मौजूद हैं।

छठे परमाणु परीक्षण की है आशंका
सीएनएन के मुताबिक, उत्तर कोरिया द्वारा संभावित छठे परमाणु परीक्षण से पहले यूएसएस कार्ल विंसन बीते अप्रैल में कोरियाई प्रायद्वीप पहुंच गया था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned