script35 MB of canceled tasks disappear from JDA | निरस्त कार्यों की 35 एमबी जेडीए से गायब  | Patrika News

निरस्त कार्यों की 35 एमबी जेडीए से गायब 

locationजयपुरPublished: Aug 01, 2015 04:42:31 am

Submitted by:

Moti ram

निरस्त कार्यों को लेकर जोधपुर विकास प्राधिकरण में नित नई अनियमितताएं सामने आ रही हैं। जहां अभियांत्रिकी शाखा की ओर से अभी तक निरस्त 111 करोड़ के 526 कार्यों में से कई की मौका रिपोर्ट तक नहीं हुई, वहीं इन कार्यों में से 35 कार्यों की मेजरमेंट बुक ही  गायब हो गई है।

निरस्त कार्यों को लेकर जोधपुर विकास प्राधिकरण में नित नई अनियमितताएं सामने आ रही हैं। जहां अभियांत्रिकी शाखा की ओर से अभी तक निरस्त 111 करोड़ के 526 कार्यों में से कई की मौका रिपोर्ट तक नहीं हुई, वहीं इन कार्यों में से 35 कार्यों की मेजरमेंट बुक ही गायब हो गई है।

यह रिपोर्ट खुद अभियंताओं ने निदेशक अभियांत्रिकी के सामने रखी है, वहीं निदेशक मेजरमेंट बुक गायब होना नहीं बताकर इधर-उधर होना बता रहे हैं। ऐसे में मेजरमेंट बुक के गायब होने से निरस्त कार्यों का न तो मौका नाप पता चल पाएगा और न ही मेजरमेंट गलत चढ़ाया है या सही, इसका पता चल पाएगा। 

उल्लेखनीय है कि 20 अप्रेल को हुई बोर्ड की बैठक में प्राधिकरण ने 526 कार्यों को निरस्त किया था। निरस्त कार्यों को लेकर जेडीए आयुक्त जोगाराम ने सभी कार्यों की मौका रिपोर्ट मेजरमेंट बुक में चढ़ाकर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए थे। इस कार्य में सभी जोन अभियंता पिछले एक सप्ताह से जोर-शोर से लगे हैं। हाल ही अधीक्षण अभियंता की ओर से निरस्त 526 कार्यों की बनाई रिपोर्ट में 35 मेजरमेंट बुक गायब बताई हैं। इनके अलावा 22 कार्यों का काम शुरू नहीं होना बताया है। 

किस जोन में कितनी मेजरमेंट बुक गायब 
जेडीए में कुल 35 एमबी गायब है। इनमें पूर्व जोन की 24, पश्चिम की 2, उत्तर ए की 3, उत्तर बी की 5, उत्तर सी की 1 मेजरमेंट बुक गायब है। हालांकि विभाग में एमबी स्कैनिंग का कार्य चल रहा है, लेकिन अभी तक सभी एमबी के स्कैनिंग का कार्य नहीं हुआ है। ऐसे में गायब हुई मेजरमेंट बुक स्कैन नहीं होने की स्थिति में संबंधित कार्यों के भुगतान में धांधली की संभावना रहेगी। 

ये एमबी भी नहीं हुई सबमिट 
अभियंताओं के अनुसार काम शुरू नहीं होने के कारण 22 एमबी सबमिट नहीं हुई है। इनमें से दक्षिण जोन ए की एक, उत्तर ए की 6, उत्तर बी की दो, उत्तर सी की चार, मुख्यालय की पांच और पश्चिम जोन की 4 एमबी हैं। इनके अलावा दो कार्यों की एमबी एसीबी एवं एक अकाउंट सेक्शन में बताई है। 

जनता से जुड़े कार्य भी किए निरस्त 
प्राधिकरण की ओर से निरस्त किए गए कार्यों में भी अनियमितताएं सामने आ रही हंै। बोर्ड बैठक में कुल 337 करोड़ के 526 कार्यों को निरस्त किया था। जेडीए की रिपोर्ट के अनुसार निरस्त के समय इन कार्यों पर 111 करोड़ खर्च बताए गए और निरस्त करने का कारण बाजार दर बढऩे के चलते ठेकेदारों की ओर से काम नहीं करना बताया। जबकि हकीकत में ठेकेदारों को कार्यों के निरस्त होने तक की जानकारी नहीं थी और न ही ठेकेदारों ने कार्य करने से मना किया। इस दौरान जेडीए ने जनता से जुड़े सड़कों जैसे जरूरी कार्य भी निरस्त कर दिए। 

निरस्त कार्यों पर खर्च हो चुके हैं 111 करोड़ 
प्राधिकरण ने बोर्ड बैठक में कुल 337 करोड़ की लागत के 111 कार्यों को निरस्त किया था। लेकिन निरस्त होने तक जेडीए इन पर करीब 111 करोड़ खर्च कर चुका है। 

ये कार्य हुए थे निरस्त 
जोन--- कार्य--- खर्च राशि (करोड़ में)
पूर्व --- 65--- 20.93 
पश्चिम--- 72--- 19.09 
उत्तर ए --- 81--- 8.77 

उत्तर बी--- 79 --- 19.29 
उत्तर सी --- 77--- 24.82 
दक्षिण ए --- 28 --- 4.55 

दक्षिण बी--- 13--- 1.22 
दक्षिण सी--- 10--- 1.92 

मुख्यालय--- 85--- 9.40 
विद्युत ---16--- 1.54 
योग --- 526--- 111.57

निदेशक अभियांत्रिकी एसआर जोशी से सीधी बात 
सवाल-विभाग से 35 मेजरमेंट बुक गायब हो गई हैं, इसके बारे में क्या कहना है? 
जवाब-एमबी गायब नहीं हुई है, इधर-उधर हो गई है। 

सवाल-इधर-उधर होने का क्या कारण है?
जवाब-कई दिनों से ये कार्य नहीं चल रहे थे, कुछ इंजीनियरों के तबादले की प्रक्रिया भी हुई। 

सवाल-अब कार्यों की मौका स्थिति कैसे मालूम चल पाएगी? 
जवाब-फाइलों की छंटनी चल रही है, इनमें से कुछ मिल चुकी है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.