बांग्लादेश में 2002 के हत्याकांड में 23 को मृत्युदंड की सजा 

Asia
बांग्लादेश में 2002 के हत्याकांड में 23 को मृत्युदंड की सजा 

बांग्लादेश की एक अदालत ने बुधवार को साल 2002 में अवामी लीग और इसके छात्र संगठन के चार कार्यकर्ताओं की हत्या के मामले में 23 लोगों को मौत की सजा सुनाई।

नई दिल्ली. बांग्लादेश की एक अदालत ने बुधवार को साल 2002 में अवामी लीग और इसके छात्र संगठन के चार कार्यकर्ताओं की हत्या के मामले में 23 लोगों को मौत की सजा सुनाई, जिनमें बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के एक नेता भी शामिल हैं। अतिरिक्त लोक अभियोजक जैस्मीन अहमद ने अदालत के आदेश की पुष्टि करते हुए कहा कि यह सजा नारायणगंज द्वितीय अतिरिक्त जिला एवं सत्र अदालत न्यायाधीश कमरुन नाहर ने सुनाई।

दोषियों में बीएनपी के नेता भी शामिल 
अदालत से जिन 23 लोगों को मृत्युदंड दिया गया है, उसमें बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी के एक नेता भी शामिल है। बीएनपी नेता अबुल बशर काशु को भी दोषी माना गया है। फैसला सुनाएं जाने के दौरान काशु सहित 19 अन्य लोग अदालत में मौजूद थे। बाकी के चार अन्य दोषी फरार हैं।

ऐसे की थी हत्या की घटना
यह घटना 2002 की है। 12 मार्च को अवामी लीग के छात्र संगठन के चार कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई थी। कोर्ट में अभियोजन पक्ष ने अपने दलील में कहा कि काशु तथा अन्य लोगों ने मिलकर चार कार्यकर्ताओं को 12 मार्च, 2002 को उनके घरों से उठा लिया था और फिर जलाकर उनकी हत्या कर दी। बता दें कि अवामी लीग बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेखर हसीना की पार्टी है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned