पाकिस्तान को दरकिनार करने में सफल रहा भारत : चीनी मीडिया

Asia
पाकिस्तान को दरकिनार करने में सफल रहा भारत : चीनी मीडिया

भारत ने पाकिस्तान के अलावा क्षेत्र के सभी देशों को आमंत्रित किया था, जिससे पाकिस्तान को क्षेत्रीय स्तर पर खारिज कर दिया गया

नई दिल्ली। चीन की सरकारी मीडिया का मानना है कि भारत हाल ही में संपन्न ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के जरिए पाकिस्तान को क्षेत्रीय स्तर पर अलग-थलग करने में कामयाब रहा। चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स ने एक लेख में कहा है कि ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के साथ ही बिम्सटेक का आयोजन करना भारत का एक चतुराई भरा कदम था। अखबार ने कहा, गत माह से भारत-पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव की पृष्ठभूमि में भारत का ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के साथ बिम्सटेक के आयोजन के गहरे सामरिक मायने निकलते हैं।

भारत ने पाकिस्तान के अलावा क्षेत्र के सभी देशों को आमंत्रित किया था, जिससे पाकिस्तान को क्षेत्रीय स्तर पर खारिज कर दिया गया। इससे यह संकेत मिलता है कि आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए भारत के कदम के संदर्भ में चीन ब्रिक्स शिखर सम्मेलन को किस तरह देखता है जबकि ब्रिक्स के घोषणा पत्र में 'सीमा पार आतंकवाद' और पाकिस्तान आधारित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा या जैश-ए-मोहम्मद का नाम नहीं लिया गया।

भारत ने कश्मीर के उरी में सैन्य शिविर पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए जोरदार कूटनीतिक प्रयास शुरु कर दिए हैं। भारत इस्लामाबाद में होने वाले दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संघ (दक्षेस) शिखर सम्मेलन को स्थगित कराने में भी सफल रहा है। ग्लोबल टाइम्स के लेख के लेखक के अनुसार दक्षेस सम्मेलन के स्थगित होने से भारत को क्षेत्रीय समूह पर इस्लामाबाद के किसी दबाव को खत्म करने का विरले अवसर मिल गया क्योंकि वही क्षेत्रीय समूह पाकिस्तान की गैर मौजूदगी में गोवा में एकत्र हुआ।

लेखक का कहना है कि ब्रिक्स की अहम उभरती अर्थव्यवस्थाओं के साथ क्षेत्रीय देशों बांग्लादेश, श्रीलंका, थाइलैंड, म्यांमार, नेपाल और भूटान को एक साथ लाकर भारत ने एक तरह से इन संगठनों में नई जान फूंक दी है। लेख में कहा गया है, ब्रिक्स के बाकी देश भारत-पाकिस्तान तनाव पर खुलकर कभी किसी भी पक्ष की हिमायत नहीं करेंगे लेकिन भारत ने सम्मेलन में ताकत दिखाकर पाकिस्तान के संदर्भ में अपना रुख सुरक्षित कर लिया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned