डिंपल यादव ने कहा, अखिलेश यादव के खिलाफ हुई साजिश

Abhishek Gupta

Publish: Feb, 17 2017 04:13:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
डिंपल यादव ने कहा, अखिलेश यादव के खिलाफ हुई साजिश

"नोट बंदी और हाथी बनवाने वाले से सावधान"

औरैया. बिधूना विधान सभा में सपा प्रत्याशी के समर्थन में एक चुनावी सभा को संबोधित करने पहुँचीं सांसद डिंपल यादव ने भाजपा और बसपा को जमकर कोसा। इस दौरान उन्होंने कहा कि बहुत मेहनत के बाद साईकिल को हम बचा पाये हैं। अपने चचिया ससुर पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी साजिस हुई कि अखिलेश के पास केवल चाभी और मैं बचती, लेकिन जनता के सहयोग से साइकिल हमें मिल गई। यहाँ की जनता भैया के साथ है। गाँव और शहरों में बहुत काम हुआ है, एक्सप्रेस वे से डेढ़ घंटे में लखनऊ पहुंचेगे।

उन्होंने आगे कहा कि यह अखिलेश भैया के लिए फाइनल लड़ाई है। 108 एम्बुलेंस बिना किसी मतभेद के पहुंचती है। केंद्र ने आज तक कोई काम नहीं किया। हमारे प्रदेश को बदनाम किया जा रहा है, ध्यान रहे कि जो नाम वाला है वही बदनाम है। भाजपा पर जमकर हमला- बिजली के क्षेत्र में बहुत काम हुआ है। सड़कों का जाल बिछा है। जिला मुख्यालयों को फोर लेन से जोड़ा। अखिलेश जी इंजीनियर हैं इसलिए गरीबों की तकलीफ समझते हैं। 

डिंपल ने लोक सभा चुनाव की ओर इशारा करते हुए कहा कि प्रदेश की जनता ने एक बार गलती कर दी है। आने वाले समय में सभी गरीब परिवारों को स्मार्ट फोन सरकारी योजनाओं से सीधे जोड़ने के लिए दिए जाएंगे। नेताजी की वजह से समाजवादी सरकार ने दो साल में देश की सबसे मजबूत एक्सप्रेस वे बनाया। एक सरकार ने हाथियों को खड़ा किया और दूसरी ने जनता को बैंकों के सामने लाइन में खड़ा किया। किसानों को नोटबंदी से बहुत परेशानी हुई।

राहुल ने कहा कि आने वाले समय में एक करोड़ महिलाओं को पेंशन देंगे। केंद्र ने किसी भी महिला को चूल्हा नहीं दिया, समाजवादी लोग महिलाओं को प्रेशर कूकर देंगे। प्राथमिक विद्यालयों की दशा सुधारेंगे और वहां पढ़ने वाले बच्चों को फल और दूध दिया जाएगा। एक्सप्रेस वे के किनारे किसानों को राहत पहुंचाने के लिए बड़ी बड़ी मंडियां बनाएंगे। वहां ट्रेनिंग सेंटर्स भी खोलेंगे। सर्टिफिकेट दिखाने और दौड़ में आगे रहने वालों को पुलिस में भर्ती करेंगे। बसपा नेता ने भाजपा नेता को राखी बांधी। हमारे गठबंधन पर उन्हें दर्द होता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned