ऐसे कैसे Polio मुक्त होगा भारत, बिना दवा पिलाए ही बना डाली फर्जी रिपोर्ट

Nitin Srivastava

Publish: Jul, 18 2017 08:14:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
ऐसे कैसे Polio मुक्त होगा भारत, बिना दवा पिलाए ही बना डाली फर्जी रिपोर्ट

दो जुलाई से शुरू हुए Pulse Polio Abhiyan 2017 में बूथ दिवस के बाद पांच दिनों तक घर-घर दवा पिलाने का अभियान चलाया गया था। लेकिन एरवाकटरा विकास खंड क्षेत्र के ग्राम राजाराम नगरिया में Pulse Polio Team ने बिना दवा पिलाए ही फर्जी आंकड़े दर्शाये थे।

औरैया. एरवाकटरा विकास खंड क्षेत्र के ग्राम राजाराम नगरिया में पल्स पोलियो टीम ने बिना दवा पिलाए ही फर्जी आंकड़े दर्शाये थे। इसकी जांच प्रभारी सीएमओ विनोद सागर ने डिप्टी सीएमओ डॉ. अशोक कुमार को सौंपी थी, लेकिन एक सप्ताह बीतने के बाद भी जांच पूरी नहीं हो सकी है।




दर्ज किए फर्जी आंकड़े

दो जुलाई से शुरू हुए पल्स पोलियो अभियान में बूथ दिवस के बाद पांच दिनों तक घर-घर दवा पिलाने का अभियान चलाया गया था। इसमें सीएचसी एरवाकटरा से बीते दिनों टीम नंबर 37 विकास खंड क्षेत्र एरवाकटरा के ग्राम राजाराम नगरिया में दवा पिलाने पहुंची थी। टीम को सीएचसी से 12 वायल दी गई थी। इसी दौरान WHO मॉनीटर पल्स पोलियो अभियान की हकीकत का जायजा लेने राजाराम नगरिया जा पहुंचे थे। उन्होंने जब पोलियो सीट का अवलोकन किया तो उसमें 120 बच्चों को पोलियो की दवा पिलाना दर्शाया गया था। उन्होंने पोलियो वैक्सीन बाक्स को देखा तो उसमें सभी वायलें रखी थीं। इन्हें इस्तेमाल नहीं किया गया था।




अभी तक नहीं पूरी हुई जांच

अभियान को फर्जी आंकड़ों से पूरा करने की जानकारी डब्लूएचओ मॉनीटर द्वारा जिला प्रतिरक्षण अधिकारी सहित प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. विनोद सागर को दी। प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी ने डॉ. अशोक कुमार को इस प्रकरण की जांच सौंपी थी। लेकिन एक सप्ताह बीतने के बाद भी डॉ. अशोक कोई निष्कर्ष नहीं निकल पाए हैं। जांच कर रहे डॉ. अशोक कुमार ने बताया है कि बरसात के चलते एक दिन पहले का बाक्स वापस नहीं आ पाया था। इससे यह समस्या रही। जबकि टीम बच्चों को दवा पिला रही थी। प्रभारी सीएमओ डॉ. विनोद सागर ने बताया कि अब तक उन्हें इस प्रकरण में कोई भी रिपोर्ट नहीं मिली है। रिपोर्ट मिलने पर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned