जेट्रोफा खाने से दो दर्जन स्कूली बच्चों की हालत बिगड़ी

Allahabad, Uttar Pradesh, India
जेट्रोफा खाने से दो दर्जन स्कूली बच्चों की हालत बिगड़ी

गंभीर हालत में बच्चों का अस्पताल में चल रहा है इलाज 

इलाहाबाद. इलाहाबाद में जैट्रोफा का जहरीला फल खाने से मंगलवार को सरकारी प्राइमरी स्कूल के दो दर्जन बच्चे गंभीर रूप से बीमार हो गए हैं। इनमे से बाइस बच्चों की हालत गंभीर होने पर शहर के चिल्ड्रन हॉस्पिटल में रेफर किया गया है। मामला जिले के मांडा इलाके के एक सरकारी स्कूल का है।

दरअसल स्कूल से छूटने के बाद इन छात्रों ने बादाम समझकर जेट्रोफा में लगे फल को खा लिए। फल खाते ही करीब चार दर्जन की हालत बिगड़ गयी। इसमें से करीब 22 बच्चों की हालत गंभीर हो गयी।गंभीर रूप से बीमार इन बच्चो को शहर के सरकारी चिल्ड्रेन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि दो दर्जन बच्चे प्राथमिक इलाज के बाद घर भेज दिए गए है 7 मामला जिले के मांडा इलाके के महेवा कला गांव की है। यहाँ कल शाम सरकारी प्राइमरी स्कूल की छुट्टी होने पर वहाँ के छात्र वापस लौट रहे थे, तभी उन्हें सड़क किनारे लगे जैट्रोफा के पौधे नजर आए। 


इसके बीज को बादाम समझकर तमाम बच्चो ने इसे खा लिया। जैट्रोफा का बीज जहरीला होता है और इससे बायो डीजल बनाया जाता है। घर पहुँचते - पहुँचते बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी। बच्चो की हालत बिगड़ने पर इलाके में हड़कम्प मच गया और लोग बच्चों को सरकारी अस्पताल लेकर भागे। वहाँ पचास से ज़्यादा बच्चों को भर्ती कर उनका इलाज शुरू किया गया। पीएचसी में गंभीर रूप से बीमार बाइस बच्चों को शहर के चिल्ड्रन हास्पिटल रेफर कर दिया गया। इन्हें इमरजेंसी वार्ड में रखा गया है। डॉक्टर के अनुसार अब भी करीब आधा दर्जन की स्थिति नाजुक बनी है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned