11 दिसम्बर को होने वाली परिवर्तन रैली की तैयारियां शुरु, अलर्ट हुआ महकमा

Lucknow, Uttar Pradesh, India
 11 दिसम्बर को होने वाली परिवर्तन रैली की तैयारियां शुरु, अलर्ट हुआ महकमा

आगामी 11 दिसम्बर को विस्वरिया इलाके में होने वाली परिवर्तन रैली के लिये जिले का महकमा अलर्ट हो गया है। 

बहराइच। आगामी 11 दिसम्बर को विस्वरिया इलाके में होने वाली परिवर्तन रैली के लिये जिले का महकमा अलर्ट हो गया है। पुलिस और प्रशासन की टीम के साथ साथ खूफिया महकमें का दस्ता कार्यक्रम स्थल की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने की कार्रवाई में बड़ी सक्रियता के साथ जुट गया है। रैली के कार्यक्रम की सुरक्षा व्यवस्था के लिए बीजेपी के जिलाध्यक्ष श्याम करन टेकड़ी वाल के साथ बीजेपी के वरिष्ठ नेता संचित सिंह सहित बीजेपी कार्यकर्ताओं का दल जिले के अपरजिलाधिकारी विद्याशंकर सिंह के पास पहुंचकर प्रधानमन्त्री के आगमन कार्यक्रम की पूर्व सूचना का पत्र सौंपा। 

इस दौरान जिले के ADM ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को प्रधानमंत्री के कार्यकम के दौरान सभी तरह की सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराये जाने का भरोसा जताया। सबसे बड़ी चौकाने वाली बात ये है की नोट बंदी और सर्जिकल अटैक जैसी शख्त कार्रवाई के फैसले के बाद देश के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी पर आतंकी खतरे का साया काफी हद तक बढ़ गया है। जिसका जीता जगाता उदाहरण NIA और तमिलनाडु पुलिस टीम के राडार पर मदुरै इलाके से हत्थे चढ़े 3 आतंकियों की गिफ्तारी के दौरान सुरक्षा एजेंसियों को इस बात का पुख्ता सुराग लगा है की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश के 22 बड़े नेता इनके टार्गेट पर थे।गिरफ्तारी के दौरान इनके पास से भारी मात्रा में विस्फोटक और हथियारों की खेप भी बरामद हुयी है। जबकि 2 अलकायदा से जुड़े आतंकी अभी भी फरार चल रहे हैं। 

देखें वीडियो-


इस नजरिये से जिले में होने वाली प्रधान मंत्री की रैली कहीं न कहीं अपने आप में काफी सेंसटिव मानी जा रही है। इसमें कोई संदेह नहीं की भारत नेपाल बार्डर के बहराइच जिले से कई आतंकी संगठनों के तार जुड़े रहे हैं। यूं कहें तो बड़े पैमाने पर जिला काफी अर्से से आतंकियों का पनाहगार रहा है। जहां मुम्बई सीरियल ब्लास्ट की घटना का मुख्य अभियुक्त भी इसी इलाके से जुड़ा पाया गया। यही नहीं या दाऊद के खानसामे की गिरफ्तारी से लेकर, ISI, सिमी, अलकायदा, JKLF, जैसे कई संगठनों के लिए कार्य करने वाले आतंकियों की एक बड़ी खेप इस इलाके से पहले भी गिफ्तार हो चुकी है। अभी हाल ही में POK के अलगाववादियों द्वारा देश विरोधी घटना को अंजाम देने की नीयत से भेजा गया J & K निवासी आतिफ हुशैन परिवार समेत सुरक्षा एजेंसियों के हाथों गिरफ्तार हुआ जिसने कई अहम सुराग दिए। उपरोक्त आंकड़े साफ़ गवाही दे रहे हैं की जिले में होने वाली प्रधानमन्त्री की रैली सुरक्षा के लिहाज से कितनी अहम मानी जा रही है, जिसके लिए शहर से सटे विस्वरिया गांव के 45 बीघे मैदान में सुरक्षा दस्ते की घेराबंदी की तैयारियों में जिले का महकमा अपनी तैयारियों में पूरी तरह जुट गया है। खूफिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस बार प्रधानमंत्री की सुरक्षा की निगरानी के लिए दूरबीन विधि से लैश 18 सौ मीटर रेंज से अराजक तत्वों को शूट करने वाली स्नाइपर गन से लैश शूटरों की टोली पूरे रैली मैदान की निगरानी में लगायी जायेगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned