आचार सहिंता का उलंघन, सड़कों पर खुलेआम प्रचार कर रही समाजवादी एम्बुलेंस

Ruchi Sharma

Publish: Jan, 14 2017 05:05:00 (IST)

Bahraich, Uttar Pradesh, India
 आचार सहिंता का उलंघन, सड़कों पर खुलेआम प्रचार कर रही समाजवादी एम्बुलेंस

पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान बीते 4 जनवरी को इलेक्शन कमीशन की तरफ से शंखनाद कर किये जाने के बाद से आचार संहिता का शख्त कानून पूरे सूबे में प्रभावी तौर से लागू हो गया है

बहराइच. उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान बीते 4 जनवरी को इलेक्शन कमीशन की तरफ से शंखनाद कर किये जाने के बाद से आचार संहिता का शख्त कानून पूरे सूबे में प्रभावी तौर से लागू हो गया है। जिसके तहत अब चुनाव वाले सभी प्रदेशों की सारी सरकारी मशीनरी का कंट्रोल रूम पूरी तरह से आयोग के हाथों में आ गया है,यानी चुनाव वाले क्षेत्रों के सभी सरकारी अफसर और कर्मचारी अब किसी पार्टी नेता या सरकार की कठपुतली की तरह नहीं बल्कि आयोग के इसारे पर अपनी जिम्मेदारी का पार्ट अदा करने का काम करेंगे। 

नियम के मुताबिक चुनाव आयोग की तरफ से आचार संहिता का कानून लागू होते ही सरकार सहित सभी पार्टियों के प्रचार प्रसार वाले होर्डिंग पोस्टर बैनर आदि जैसे अतिक्रमण का सफाया करने की जिम्मेदारी आयोग के तमाम जिम्मेदार अफसरों के कंधों पर होती है। जो प्रक्रिया प्राथमिकता के तौर पर निष्पक्ष तरीके से चुनाव कराने के प्राविधानों में प्रमुखता की जाती है। विगत वर्षों में हुए चुनाव के दौरान आयोग के निर्देश पर बीएसपी का प्रतीक चिन्ह प्रदर्शित करने वाले सैकड़ों पत्थर के हाथियों को आचार सहिंता के उल्लंघन का हवाला देते हुए पालीथीन के पर्दों से ढक दिया गया था। 


लेकिन इस बार आयोग की नजर शायद समाजवादी पार्टी का प्रचार करने वाली समाजवादी एम्बुलेंस की तरफ न जाने क्यों नहीं जा रही, जो पूरे सूबे में कड़ाई से लगी आदर्श आचार सहिंता के नियमों का खुला उल्लंघन करते हुए खुलेआम सड़कों पर फर्राटा भरते हुए समाजवादी नारे का प्रचार करती दिखाई दे रही हैं। सीमावर्ती जिले बहराइच में समाजवादी स्वास्थ सेवा के लिए मुहैया करायी गयी लगभग तीन दर्जन समाजवादी एम्बुलेंस की गाड़ियां आचार सहिंता लगने के बावजूद सपा सरकार के नारे और विकास की योजनाओं का प्रचार कर आयोग के गईडलाईनों की धज्जियां खुलेआम इस तरह उड़ा रही हैं। ये नजारा तो सिर्फ एक जिले का है। सोचिए गुलिस्तां का आलम क्या होगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned