हैंडपंप से निकल रहा गंदा पानी, घर से पानी ला रहे बच्चे

Bhaneshwar sakure

Publish: Feb, 17 2017 05:32:00 (IST)

Balaghat, Madhya Pradesh, India
हैंडपंप से निकल रहा गंदा पानी, घर से पानी ला रहे बच्चे

कटंगी क्षेत्र में पीएचई विभाग ने हैंडपंप तो लगा दिया है। लेकिन इन हैंडपंपों से गंदा पानी निकल रहा है। बावजूद इसके पीएचई विभाग इसे गंभीरता से नहीं ले रहा है।

बालाघाट. कटंगी क्षेत्र में पीएचई विभाग ने हैंडपंप तो लगा दिया है। लेकिन इन हैंडपंपों से गंदा पानी निकल रहा है। बावजूद इसके पीएचई विभाग इसे गंभीरता से नहीं ले रहा है। जिसके चलते बच्चे गंदे पानी का सेवन कर रहे हैं। मामला शासकीय माध्यमिक शाला और शासकीय प्राथमिक शाला बोरीखेड़ा का है।
शाला परिसर में लगा है हैंडपंप
इन दोनों ही शाला परिसर में पेयजल के लिए हैंडपंप लगे हुए है, लेकिन हैंडपंपों का पानी पीने योग्य नहीं है। इस कारण विद्यार्थियों को अपने घरों से बोतल में पानी लाना पड़ रहा है। लोक स्वास्थय यांत्रिकी विभाग ने इन हैंडपंपों को चिन्हित कर पानी पीने योग्य नहीं है इस बात की पुष्टि की है। जिसके बाद से विद्यार्थियों ने इन हैंडपंपों के पानी का उपयोग पीने के लिए करना बंद कर दिया है। हालांकि, अनेक बार मजबूरी में विद्यार्थी इनका उपयोग कर लेते है। लेकिन शिक्षा विभाग और लोक स्वास्थय यांत्रिकीय विभाग इसे गंभीरता से नहीं ले रहा है। जिसके कारण विद्यार्थियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इधर, अभिभावकों ने शीघ्र ही इन शालाओं में पेयजल की उचित व्यवस्था कराएं जाने की मांग की है।
बैग में भीग जाती हैं पुस्तकें
विद्यार्थियों के अनुसार शालाओं में पीने के पानी का कोई साधन नहीं है। इस वजह से वे अपने घरों से बोतल में पानी लेकर आते हैं। अनेक बार पुस्तकें, कापी भीग जाती है। इतना ही नहीं बोतल में लाया गया पानी पूरे  दिन उपयोग नहीं किया जा सकता है। इसलिए बार-बार घर या स्कूल के पास रहने वालों के घरों से पानी लेकर आना पड़ता है। हैंडपंप के पानी का उपयोग करने से पेट दर्द जैसे विकार होने लगते है।
शिकायत के बाद नहीं बदली व्यवस्था
शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला के प्रभारी प्रधानपाठक ने बताया कि इन दोनों ही स्कूलों में विद्यार्थियों की कुल संख्या 94 है। दोनों ही पाठशालाओं के परिसर में हंैड़पंप भी है। लेकिन पानी पीने योग्य नहीं है। इसकी जानकारी विभागीय अधिकारियों और पीएचई विभाग, पंचायत को भी दी जा चुकी है। लेकिन कहीं से कोई मदद नहीं मिली ह। जिसके कारण समस्या जस की तस बनी हुई है।
इनका कहना है
आपके द्वारा जानकारी मिली है। शीघ्र ही हैंडपंपों को दिखवाया जाएगा।
-आरएस ठाकुर, सहायक यंत्री, पीएचई कटंगी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned