गांव-गांव विक्रय करने परिवहन कर रहे थे शराब

mukesh yadav

Publish: Apr, 21 2017 08:42:00 (IST)

Balaghat, Madhya Pradesh, India
 गांव-गांव विक्रय करने परिवहन कर रहे थे शराब

इधर पुलिस पहुंच से दूर फरार शराब तस्कर, दूसरे दिन भी नहीं लग पाया सुराग  कागजों में मामला दर्ज कर अब खानापूर्ती में जुटी पुलिस

बालाघाट. जिले के ग्रामीण अंचलों में बड़े पैमाने पर अंग्रेजी शराब का अवैध रूप से कारोबार किया जा रहा है। गत दिवस परसवाड़ा में पकड़ाए आरोपी ने पूछताछ में भी यह बात कबूल की है। जिसने पुलिस की कड़ी पूछताछ में बताया कि उनके द्वारा बिरसा क्षेत्र से 22 पेटी करीब एक लाख कीमत की शराब बुलेरों वाहन गांव-गांव कोचियों को विक्रय करने परिवहन की जा रही थी। ताकि जिस गांव में अंग्रेसी शराब दुकानें नहीं हैं उस क्षेत्र में भी आसानी से शराब का विक्रय किया जा सके।
उल्लेखनीय है कि 20 अप्रैल को परसवाड़ा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर बैहर से परसवाड़ा मार्ग पर ग्राम बघोली के नजदीक एक बोलेरों वाहन से परिवहन की जा रही 22 पेटी शराब जब्त की थी। इस दौरान वाहन के चालक को भी गिरफ्तार किया गया था व वाहन में सवार अन्य दो शराब तस्कर फरार होने में कामयाब हो गए थे।
दूसरे दिन भी नहीं लग पाया सुराग
इस मामले में परसवाड़ा पुलिस ने तीनों आरोपियों के विरुद्ध आबकारी एक्ट 34 (2), के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच शुरू की है। वहीं आरोपी वाहन चालक धनेन्द्र पिता पवनलाल पटले निवासी लीलामेटा थाना रूपझर, फिलहाल पुलिस की पकड़ में है। वहीं अन्य आरोपी शीरीष पिता शिवकुमार अवधिया निवासी परसवाड़ा तथा एक अन्य आरोपी विजय जो कि अन्य जिले का निवासी है, पुलिस की पकड़ दूर है। जिसका दूसरे दिन भी पता नहीं चल पाया है।
खानापूती में लगी पुलिस
नाम छापने की शर्त पर स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि परसवाड़ा सहित समूचे क्षेत्र में देसी और विदेशी शराब की अवैद्य बिक्री जोरों से चल रही है। शराब के इस अवैध व्यापार में शराब ठेकेदारों के साथ ही कुछ आबकारी अमले की मिलीभगत भी है। कारण यहीं है कि आबकारी पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। वहीं इस मामले में पुलिस भी अब अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने में खानापूर्ती कार्रवाई कर रही है। जबकि बताया गया कि शीरीष अवधियां पूर्व सरंपच और राजनीति पार्टी से जुड़ा हुआ व्यक्ति भी है। जो कि ग्राम में ही आस-पास रह रहा है। लेकिन पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही है। बताया गया कि शीरीष पर पूर्व में भी संगीन मामले पर अपराध दर्ज है

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned