गर्भवती पत्नी को गोद में उठाकर जिला अस्पताल में भटकता रहा युवक, नहीं मिला स्ट्रेचर 

Ballia, Uttar Pradesh, India
  गर्भवती पत्नी को गोद में उठाकर जिला अस्पताल में भटकता रहा युवक, नहीं मिला स्ट्रेचर 

सरकारी अस्पताल में मरीजों की जिंदगी से किया जा रहा खिलवाड़ 

बलिया. यूपी में सरकार बदली निजाम बदला लेकिन यहां के बदहाल स्वास्थ विभाग के हालात जस के तस हैं। आम लोगों की जिंदगी में सुधार लाने के लिए यूपी की सरकार चाहे जितने बड़े-बड़े दावे करे पर बलिया जिले में अपनी गर्भवाती पत्नी  को गोद में उठाये अस्पताल परिसर में तकरीबन एक घंटे तक परेशान युवक को अस्पताल के कर्मचारियों ने एक स्ट्रेचर तक की व्यवस्था नहीं की। युवक दर्द से कराहती पत्नी को लेकर अस्पताल में भटरकता रहा। 


जी हां सरकारी अस्पतालो में मरीजों की जिन्दगी के साथ किस कदर खिलवाड़ किया जा रहा है इसकी हकीकत बलिया जिले में देखने को मिली। जिला मुख्यालय से तकरीबन 40 किलोमीटर दूर खेजुरी इलाके से एक युवक अपनी गर्भवती पत्नी का प्रसाव कराने के लिए जिला अस्पताल पहुंचा था। प्रसव पीड़ा से कराहती महिला न तो चल पा रही थी। न ही खड़ी हो पा रही थी। उसके पति ने बड़ी देर उसे अस्पताल में भर्ती कराने के लिए स्ट्रेचर के लिए अस्पताल कर्मचारियो से मांग की। पर स्ट्रेचर का इंतजाम न हो सका। आखिर में परेशान युवक ने पत्नी को गोद में उठाकर परिसर में पहुंचा। युवक को अस्पताल के कर्मचारी इस हाल में देखते रहे पर किसी ने उसकी मदद करने की जहमत नहीं उठाई।  


देखें वीडियो...



बड़ी मुश्किल से मिला अस्पताल में दाखिला

जैसे ही मीडिया को इस बात कि जानकारी लगी। तो ये सारी तस्वीरें कैमरे में कैद हो गईं। मीडिया ने बीच-बचाव किया तो जिला अस्पताल प्रशासन के हाथ-पांव फूलने लगे। मामला बढ़ता देख महिला को डाक्टरों ने भर्ती किया। हालांकि जब मीडिया ने अस्पताल की सीएमएस से इस लापरवाही के बारे में पूछा तो उन्होने साफ-साफ इनकार कर दिया कि इस बारे में मरीज के परिजनों ने अस्पताल प्रसासन को किसी तरह की जानकारी नहीं दी थी। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned